भुवनेश्वर, जेएनएन। आगामी नवंबर-दिसंबर में होने वाले हॉकी विश्वकप को लेकर शासन-प्रशासन ने तैयारी के साथ मंथन शुरू कर दिया है। बाहर से आने वाले पर्यटकों को किसी प्रकार की असुविधा न हो एवं सुरक्षा में भी कहीं कोई कोताही न रह जाए, इस पर विशेष जोर दिया जा रहा है। हॉकी विश्वकप के दौरान लगभग 15 हजार अंतरराष्ट्रीय पर्यटकों के आने का अनुमान पर्यटन विभाग लगा रहा है। इतनी संख्या में पर्यटकों के आने के बाद उन्हें भुवनेश्वर में रहने के लिए पर्याप्त सुविधा नहीं होने से कटक एवं पुरी को मिलाकर 1 हजार होटल में इनके ठहरने की व्यवस्था की जा रही है। इसके अलावा पर्यटन विभाग की तरफ से 1 हजार गेस्टहाउस रूम की भी व्यवस्था की जाएगी।

यह जानकारी पर्यटन एवं खेल विभाग के सचिव विशाल देव ने दी है। देव ने बताया कि सभी पर्यटकों को विभाग की तरफ से घुमाने की व्यवस्था करना संभव न होने से फास्ट कम फास्ट सर्व के आधार पर 500 पर्यटकों के लिए टूर पैकेज की व्यवस्था की गई है। इस स्पो‌र्ट्स टूर पैकेज में पर्यटकों को टिकट के साथ रहने एवं विभिन्न पर्यटन स्थलों को घूमने का मौका मिलेगा। पर्यटकों को चिलिका, मंगलाजोड़ी में घुमाने की व्यवस्था की जा रही है। राज्य के पर्यटन स्थलों को लेकर विशेष वीडियो भी तैयार किया जा रहा है। इस वीडियो में विदेशी पर्यटकों को ओडिशा आने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा।

सुरक्षा पर भी विशेष ध्यान दिया जा रहा है। पुलिस अधिकारियों को स्वतंत्र रूप से हॉकी विश्वकप के लिए तैयार किया जाएगा। इसके अलावा व्यवसायी एवं सिक्योरिटी एजेंसी के साथ पुलिस कमिश्नर सत्यजीत महांती आगामी दिनों में बैठक करेंगे। 15 हजार विदेशी पर्यटकों को व्यक्तिगत तौर पर सुरक्षा देना संभव नहीं है। ऐसे में इसे ध्यान में रखते हुए टूरिस्ट वार्डेन स्वयंसेवी को नियोजित करने के लिए होटल एंड रेस्टोरेंट एसोसिएशन ऑफ ओडिशा को प्रस्ताव दिया गया है।

खिलाड़ियों को मैदान में जाने के लिए सुरक्षा व्यवस्था पर पुलिस विशेष ध्यान दे रही है। खिलाड़ी या अन्य पर्यटक होटल से जब शहर में घूमने के लिए निकलेंगे तो उनकी सुरक्षा के लिए टूरिस्ट वार्डेन का सहयोग लिए जा सकने की बात पुलिस कमिश्नर महांती ने कही है। उल्लेखनीय है कि आगामी 28 नंवबर से 16 दिसंबर तक भुवनेश्वर क¨लग स्टेडियम में हॉकी विश्वकप-2018 खेला जाएगा। इसे लेकर राज्य सरकार एवं प्रशासन अभी से तैयारी में जुटा हुआ है।