जासं, कटक : पवित्र नंद उत्सव से ही मां दुर्गा की मूर्ति निर्माण के लिए मिट्टी उठाने की परंपरा सदियों से चली आ रही है। इसी के तहत सोमवार को कटक शहर के विभिन्न पूजा कमेटियों के द्वारा मिट्टी उठाने का काम शुरू हुआ। शहर के दोनों छोर पर मौजूद महानदी एवं काठजोड़ी नदी से मां दुर्गा की मूíत निर्माण के मिट्टी लाई गई। परंपरा के तहत एक रैली में विभिन्न पूजा पंडाल के कार्यकर्ता व संकीर्तन मंडली निकलकर शहर परिक्रमा करते हुए काठजोड़ी एवं महानदी के किनारे पहुंचे। यहां पर कलश रखकर पूजा विधि नीति के अनुसार किया गया एवं पंडित के मंत्र के साथ नदी में डुबकी लगाकर मां दुर्गा के लिए पूजा पंडाल के सदस्यों ने मिट्टी उठाई। पूजा विधि खत्म होने के बाद संकीर्तन व गाजे बाजे के साथ मिट्टी को सिर पर रखकर पूजा पंडाल तक ले जाया गया। विश्वास है कि नंद उत्सव के दिन ही मां योगमाया का धरती पर आगमन हुआ था। इसी के चलते मां दुर्गा की पूजा की जाती है।

Posted By: Jagran