जेएनएन, ब्रजराजनगर। पूरे देश एवं प्रदेश में जारी लॉक डाउन को कड़ाई से पालन करने के चलते अंतरराज्यीय तथा झारसुगुड़ा जिले की सीमाओं को सील भी कर दिया गया है। इस कड़ाई के चलते पड़ोसी राज्य छत्तीसगढ़ से अपनी भैंसों को चराने के लिए ओडिशा के झारसुगुड़ा जिला अंतर्गत लखनपुर ब्लॉक में आए 8 चरवाहा परिवार लखनपुर ब्लॉक के सागरपाली गांव के डुंगरीपाड़ा में फंस गए हैं। 

चरवाहों के ये परिवार छत्तीसगढ़ से अपनी पत्नी एवं बच्चों के साथ गायों एवं भैंसों लेकर लखनपुर ब्लॉक के विभिन्न गांवों में घूम घूम कर पशु चराते थे। इन दिनों व्याप्त कोरोना संक्रमण की दहशत के कारण ग्रामवासियों द्वारा इन्हें कही भी शरण नही दी जा रही है। ग्रामवासियों से तिरस्कृत होने के बाद इनको सागरपाली गांव में एक पेड़ के नीचे शरण लेने को बाध्य होना पड़ा है । रात दिन इसी पेड़ के नीचे समय बिताने के कारण अब उनके पास खाने पीने के भी लाले पड़ गए हैं। गांव के मानस रंजन बेहेरा, सरोज बेहेरा, बिनोद कराली, तपन बेहेरा, महेंद्र कराली, क्षत्रिय मिर्धा तथा दिलीप खंडा इत्यादि गांव के कुछ सहृदय युवकों ने इन परिवारों के खाने पीने की व्यवस्था करने के साथ ही मामले की सूचना लखनपुर ब्लॉक प्रशासन को प्रदान की। लखनपुर बीडीओ संजीव पटेल ने बताया कि इन चरवाहा परिवारों के खाने पीने की व्यवस्था करने के निर्देश दे दिए गए हैं ।

Posted By: Vijay Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस