जागरण संवाददाता, भुवनेश्वर :

योग गुरु स्वामी रामदेव ने कहा कि राष्ट्रीय पशु-पक्षी की तरह कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा राष्ट्रीय दामाद हैं।

भुवनेश्वर में आयोजित एक कार्यक्रम में शामिल होने आए योग गुरु स्वामी रामदेव ने शुक्रवार शाम को दिल्ली में आयोजित अरविंद केजरीवाल द्वारा रॉबर्ट वाड्रा की संपत्तिका खुलासा करने के बाद बचाव में सोनिया गांधी के सामने आने के बाद यह टिप्पणी की है। पत्रकारों के पूछे जाने पर बाबा रामदेव ने कहा कि रोबर्ट बाड्रा तो 50 लाख से 300 करोड़ 3 वर्ष में कमाने की बात बता रहे हैं। लेकिन हकीकत में इससे कई गुना सम्पत्ति के वे मालिक बन चुके हैं। दिल्ली, हरियाणा एवं राजस्थान जैसे कांग्रेस शासित राज्यों में बडे़ बड़े मकान एवं महंगी जमीन की मालिक सोनिया के दामाद हैं। गुड़गांव एवं फरीदाबाद में बच्चों को पूछो तो भी बता देंगे कि वहां के ज्यादातर जमीन किसके हैं। लेकिन राष्ट्रीय दामाद अन्य राष्ट्रीय पशु पक्षियों की तरह पूर्ण रूप से सुरक्षित हैं। जैसा उनका कोई नुकसान नहीं पहुंचा सकता है, वैसा ही इनका भी न तो सीबीआई और न ही इनकम टैक्स वाले कोई नुकसान पहुंचा सकेंगे। नुकसान की बात तो दूर उनके तरफ तो टेढ़ी आंख भी नहीं देख सकते हैं। लेकिन कांग्रेस सरकार उनके खिलाफ 100 से ज्यादा केस दर्ज कर चुकी है। उनके सहयोगी बालकृष्णन को घसीट घसीटकर फंसाया जा रहा है। लेकिन अभी तक उनके विरुद्ध कोई भी सबूत न होने की बात एक केन्द्रीय मंत्री द्वारा स्वीकार करना उनके लिए आश्वासन की बात है। मीडिया से बातचीत के बाद एक मीडिया संस्था द्वारा आयोजित दो दिवसीय कार्यक्रम में जाने पत्रकार प्रभु चावला के साथ भी उनका आमना सामना हुआ। प्रभु चावला ने उनसे पूछा कि आप सिर्फ कांग्रेस के विरुद्ध ही क्यों लगे हुए हैं, क्या दूसरे पार्टी में सब दूध के धुले हैं। इस पर प्रतिक्रिया देते हुए बाबा रामदेव ने कहा कि गंगा पूरी तरह मैली हो चुकी है। लेकिन गंगोत्री से इसकी सफाई की जरूरत है। ठीक उसी तरह भ्रष्टाचार में डुबे कांग्रेस के मुख्य कार्यालय से ही राजनीति के गंदगी को धुलाई का काम शुरू किया गया है। धीरे-धीरे अन्य घाटों की सफाई की तरह सभी भ्रष्ट नेताओं की सफाई की जाएगी। बाबा ने कहा कि किसी भी देश की शक्ति वहां के सैन्य बल, अर्थ बल एंवं उनके साहित्य पर निर्भर पर है। भारत का साहित्य काफी पुराना है। इसमें योग आयुर्वेद से लेकर सभी तरह के समस्याओं के समाधान बताया गया है। लेकिन विदेशी संस्कृति के कारण हमारी संस्कृति नष्ट हो रही है। इसी कारण देश में भ्रष्टाचार को हटाने के साथ साथ अपनी संस्कृति को बचाने के लिए देश में 272 अच्छे लोगों को भेजना जरूरी है।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर