भुवनेश्वर, जागरण संवाददाता। कोरोना संक्रमण (Coronavirus) की दूसरी लहर ने डर का माहौल एक बार फिर बना दिया है। बढ़ते संक्रमण के चलते पुरातत्व विभाग के अधीन आने वाले सभी ऐतिहासिक स्थल एवं संग्रहालय को बंद कर दिया गया है। इसी क्रम में आज कोणार्क सूर्य मंदिर (Konark Sun Temple) को भी बंद कर दिया गया है। परिणाम स्वरूप आज सुबह ही सूर्य मंदिर घूमने आए पर्यटकों को निराश होना पड़ा है। संक्रमण बढ़ने से 15 मई तक या फिर अगले आदेश तक कोणार्क मंदिर को पर्यटकों के लिए बंद कर दिया गया है। 

 छोटे-बड़े व्यवसाय हुए प्रभावित

कोरोना संक्रमण के कारण 8 महीने तक सूर्य मंदिर बंद रहने के साथ ही यहां सभी छोटे-बड़े व्यवसाय प्रभावित हुए थे। अब पुन: बिना किसी पूर्ववत सूचना के पर्यटन स्थल को बंद कर दिए जाने से जीवन जीविका प्रभावित हुई है। गौरतलब है कि राज्य में बढ़ रहे कोरोना संक्रमण को लेकर सरकार ने सख्त कदम उठाया है। पहले पश्चिम ओडिशा के 10 जिलों में सरकार ने रात्रिकालीन कर्फ्यू (Night Curfew) लगाया था। अब इसमें परिवर्तन कर दिया है। शनिवार से पश्चिम ओडिशा के 10 जिलों में शाम 6 बजे से भोर 5 बजे तक नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया है। यह जानकारी खुद मुख्य सचिव सुरेश चन्द्र महापात्र ने पत्रकार सम्मेलन के जरिए दी है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021