जागरण संवाददाता, कटक : माध्यमिक शिक्षा परिषद द्वारा संचालित वर्ष 2020 की मैट्रिक परीक्षा बुधवार से शुरू होने जा रही है। इस परीक्षा में राज्यभर से कुल पांच लाख 60 हजार 905 परीक्षार्थी किस्मत आजमाएंगे। इनमें से पांच लाख 47 हजार 761 मैट्रिक में परीक्षा देंगे जबकि तीन हजार 337 संस्कृत मध्यमा और नौ हजार 771 स्टेट ओपन स्कूल परीक्षार्थी के तौर पर परीक्षा में शामिल होंगे। इसके लिए राज्य भर में 307 नोडल सेंटर बनाए गए हैं। नक्सल प्रभावित इलाके में 22 पुलिस स्टेशन को नोडल सेंटर के तौर पर चुना गया है। कंधमाल में सात, कोरापुट में पांच और मलकानगिरी में 10 पुलिस स्टेशन को नोडल सेंटर बनाया गया है। मैट्रिक परीक्षा में नकल रोकने के लिए त्रिस्तरीय स्क्वायड व्यवस्था बोर्ड की ओर से की गई है। इसमें 69 फ्लाइंग स्क्वायड और 44 स्पेशल स्क्वायड शामिल हैं। साथ ही जिला स्तर पर भी प्रशासन की ओर से स्वतंत्र स्क्वायड का गठन किया गया है। इसके अलावा एक हजार सेंटर में सीसीटीवी एवं 693 संवेदनशील परीक्षा केंद्रों पर कड़ी नजर रखने की व्यवस्था की गई है। इस परीक्षा को सफलता के साथ संपन्न करने के लिए बोर्ड की ओर से सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। परीक्षार्थियों के लिए कुल 2888 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं।

बोर्ड के सचिव श्रीकांत तराई ने बताया कि मैट्रिक परीक्षा को शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न करने के लिए हर तरह की व्यवस्था की गई है और उम्मीद है कि मैट्रिक परीक्षा निश्चित तौर पर सफलता के साथ संपन्न होगी। गौरतलब है कि इस साल मैट्रिक परीक्षा नए ढांचे से हो रही है। ऑबजेक्टिव ओएमआर सीट के बदले इस साल मैट्रिक परीक्षार्थी सवालों का जवाब सीधे उत्तर पुस्तिका पर ही लिखेंगे। मैट्रिक, संस्कृत मध्यमा और स्टेट ओपन स्कूल परीक्षा दो सिटिंग में ली जाएगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस