जागरण संवाददाता, भुवनेश्वर : उर्जा मंत्री दिव्यशंकर मिश्रा ने सख्त निर्देश दिया है कि रास्ते के कम से कम 22 फीट की उंचाई पर 11 केवी बिजली के तार जाने चाहिए। कहीं भी अगर इसका उल्लंघन होता है तो तुरंत सरकार की नजर में लाया जाए ताकि उस पर कार्रवाई की जा सके। बरहमपुर की दर्दनाक घटना के बाद सरकार कम ऊंचाई पर बिजली के तार खींचे जाने पर कार्रवाई करती दिखाई दे रही है। मंत्री ने लोकसेवा भवन में वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए विभिन्न जिलों के जिलाधीश, पुलिस अधीक्षक और बिजली विभाग के अधिकारियों से चर्चा की। मंत्री ने कहा कि जनप्रतिनिधि भी अपने-अपने इलाके की स्थिति की जानकारी एकत्र करें और विभागीय अधिकारियों के संज्ञान में लाकर समस्या का समाधान करें। मंत्री ने राज्य के सभी बिजली मंडल से 11 केवी बिजली लाइन की रिपोर्ट तलब की है।

गौरतलब है कि बरहमपुर घटना में 12 लोगों की मौत के बाद सरकार पर खासा दवाब बढ़ गया था। विपक्षी दलों ने इस घटना के लिए बिजली वितरक कंपनियों पर निशाना साधा और सरकार से मांग की थी इनके खिलाफ कडी कार्रवाई की जाए। मंत्री ने कहा कि राज्य में बिजली व्यवस्था दुरुस्त करने खासकर 11 केवी लाइन को लेकर पैसे की कोई कमी नहीं रहने दी जाएगी। मंत्री ने बिजली विभाग को निर्देश दिया है कि खतरनाक स्थिति पर कि खतरनाक स्थिति पर जो ट्रांसफार्मर हैं उन्हें तुरंत सुरक्षित स्थान पर स्थानांतरित किया जाए। उन्होंने आंगनबाड़ी केंद्रों में स्थापित बिजली ट्रांसफार्मरों को हटाने के भी निर्देश दिए।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस