भुवनेश्वर, जेएनएन। मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने बुधवार को लोकसेवा भवन में विश्व बैंक के निदेशक (भारत) जुनैद कमाल अहमद के साथ मुलाकात की। अपराह्न में हुई इस मुलाकात के समय दोनों के बीच कई महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा हुई। खासकर विश्व बैंक के सहयोग से ओडिशा के विकास की प्रक्रिया को किस प्रकार से और तेज किया जा सकेगा चर्चा की गई है। विभिन्न विकास कार्यक्रम में स्वयंसहायक गोष्ठी (एसएचजी) को अधिक से अधिक शामिल करने, गरीबी खत्म करने एवं उत्तम प्रशासनिक व्यवस्था को कार्यकारी करने पर राज्य प्रशासन द्वारा उठाए गए कदम के बारे में मुख्यमंत्री ने विश्व बैंक के निदेशक को जानकारी दी है। विश्व बैंक के कंट्री पार्टनरशिप फ्रेमवर्क कार्यक्रम के अधीन राज्य में काम चल रहा है।

2018 से आरंभ होने वाला यह कार्य आगामी 2022 तक चलेगा। इस समय के दौरान किस क्षेत्र में विश्व बैंक की अधिक जरूरत है उसकी पहचान की जाएगी। इसके लिए विश्व बैंक की तरफ से रैपिड स्टेट डाइग्नोस्टिक स्टडी की गई थी। नवीन-जुनैद के बीच हुई इस मुलाकात के समय मुख्य सचिव असीत कुमार त्रिपाठी एवं विकास कमिश्रन सुरेश चन्द्र महापात्र प्रमुख उपस्थित थे।

ओडिशा की अन्य खबरें पढऩे के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Babita kashyap

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप