संसू, बालेश्वर : नगर के लोगों की बहुप्रतीक्षित मांग, एम्स सेटेलाइट सुपर स्पेशलिटी अस्पताल निर्माण की प्रक्रिया शुरू हो गई है। शनिवार को इसका शिलान्यास रेमणा तहसील अंतर्गत बामपदा में केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री जेपी नड्डा ने किया। इस मौके पर केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेद्र प्रधान, क्षेत्रीय सांसद रवीन्द्र कुमार जेना, रेमणा के विधायक गोविंद्र चंद दास, आइटीआर के निदेशक विनय कुमार दास, केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव सुनील कुमार शर्मा, एम्स, भुवनेश्वर की निदेशक प्रो. डॉ. गीतांजलि प्रमुख उपस्थित रहे।

इस अवसर पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री नड़्डा ने कहा कि केंद्र सरकार आम जनता के स्वास्थ्य के लिए सभी प्रकार की योजनाएं चला रही है। पिछले चार साल में कुल 22 एम्स सेंटर को मंजूरी दी गई है। उन्होंने केंद्र सरकार की नीतियों का उल्लेख करते हुए कहा कि सरकार पूरी पारदर्शिता के साथ काम कर रही है। मोदी के नेतृत्व में स्वास्थ्य सेवा के विभिन्न योजनाओं व सुविधाओं के लिए पूरे देश में 6 हजार करोड़ रुपये दिए जा चुके हैं। केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेद्र प्रधान ने अपने संबोधन में कहा कि बालेश्वर में 20 साल पहले ही एम्स की सेवा लोगों को मिलनी चाहिए थी, जो आज शुरू हो रही है। इस मौके पर प्रधान ने राज्य सरकार द्वारा केंद्र की आयुष्मान योजना की तर्ज पर स्वास्थ्य योजना चलाए जाने पर भी तंज कसा। उन्होंने अपने को मोदी का हनुमान करार देते हुए कहा कि कोई मेरी पूंछ में आग न लगाए। सांसद रवीन्द्र जेना ने कहा कि एम्स के बालेश्वर में बन जाने पर नगर समेत ग्रामीण इलाके के लोगों का सपना पूरा होगा। इसके लिए उन्होंने स्वास्थ्य मंत्री नड्डा के प्रति आभार प्रकट किया। विधायक गोविंद चंद दास ने सभी अतिथियों का धन्यवाद ज्ञापन किया।

Posted By: Jagran