वाशिंगटन। अमेरिका ने अपने देश में चीन के एजेंटों की गतिविधियों को लेकर चीन को चेतावनी दी है। एजेंट चोरी-छिपे तौर पर भगोड़ों पर चीन लौटने के लिए दबाव बनाने का काम करते हैं। इन भगोड़ों में कई पर भ्रष्टाचार के आरोप हैं।

अमेरिकी अधिकारी ने बताया कि इस अभियान का नाम ऑपरेशन फॉक्स हंट है। चीन द्वारा भगोड़ों को स्वदेश भेजने और आपराधिक गतिविधि से हासिल धन को बरामद करने के लिए दुनिया भर में इस अभियान को चलाया जा रहा है। अखबार न्यूयार्क टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिकी विदेश विभाग ने एजेंटों की गतिविधियों को रोकने के लिए चेताया है। एजेंट गुप्त रूप से चीन के लोक सुरक्षा मंत्रालय के लिए काम रहे हैं। अमेरिका में ये व्यापार या पर्यटन वीजा के जरिये प्रवेश करते हैं और विभिन्न हथकंथे अपनाकर निर्वासितों पर चीन लौटने के लिए दबाव डालते हैं। चीन में रहने वाले उनके परिजनों के खिलाफ कार्रवाई की धमकियां भी दी जाती हैं। बताया जाता है कि पिछले एक साल में इस कार्यक्रम के तहत दुनिया भर से 930 से अधिक संदिग्धों को चीन भेजा गया है।

चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग अगले महीने अपनी पहली अमेरिका यात्रा पर आने वाले हैं। इस दौरान दोनों देशों के बीच चीनी एजेंटों के मुद्दे के अलावा व्यापार, मानवाधिकार और हैकिंग को लेकर बातचीत की संभावना है।

70 करोड़ की ठगी में दंपती गिरफ्तार, पांच आरोपी अमेरिका फरार

Posted By: Test1 Test1

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस