न्यूयॉर्क। अजीम प्रेमजी और शिव नडार टेक्नोलॉजी सेक्टर के ऐसे मात्र दो भारतीय उद्योगपति हैं, जिन्होंने इस क्षेत्र में दुनिया की 20 सबसे धनी हस्तियों की जमात में जगह बनाई है। भारत की तीसरी सबसे बड़ी आइटी कंपनी विप्रो के चेयरमैन प्रेमजी फो‌र्ब्स की सूची में 13वें नंबर पर हैं। प्रमुख टेक्नोलॉजी कंपनी एचसीएल के संस्थापक नडार इस सूची में 14वें पायदान पर हैं।

मशहूर अमेरिकी बिजनेस पत्रिका फो‌र्ब्स ने इस खास किस्म की पहली लिस्ट जारी की है। तकनीकी क्षेत्र के सौ दौलतमंदों की इस सूची में 79.6 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ माइक्रोसॉफ्ट के संस्थापक बिल गेट्स शीर्ष पर हैं। भारतीय मूल की दो प्रमुख हस्तियों- रोमेश वाधवानी और भरत देसाई के नाम भी इसमें शामिल हैं।

फो‌र्ब्स के मुताबिक, प्रेमजी के पास 17.4 अरब डॉलर (करीब 1,127 अरब रुपये) की संपत्ति है। वह एशिया के सबसे दानवीर उद्योगपतियों में शुमार हैं। उन्होंने अपनी संपत्ति में से चार अरब डॉलर (लगभब 259 अरब रुपये) दान में दे दिया है। नडार की संपत्ति 14.4 अरब डॉलर (करीब 933 अरब रुपये) है। उनकी ज्यादातर संपत्ति आइटी कंपनी एचसीएल टेक्नोलॉजीज से जुटाई गई है।

सिंफनी टेक्नोलॉजी ग्रुप के चेयरमैन और सीईओ वाधवानी 2.8 अरब डॉलर की दौलत के साथ सूची में 73वें पायदान पर हैं। वह पिछले महीने ही अपनी एक अरब डॉलर की संपत्ति दान में देने की घोषणा कर चुके हैं। यह राशि भारत में उद्यमिता को बढ़ावा देने में इस्तेमाल की जाएगी। देसाई परिवार के पास 2.5 अरब डॉलर की संपत्ति है। वह फो‌र्ब्स की सूची में 82वें स्थान पर हैं। उन्होंने अपनी पत्नी नीरजा के साथ मिलकर 1980 में आइटी कंसल्टिंग फर्म सिंटेल की स्थापना की थी। टेक्नोलॉजी क्षेत्र की इस सूची में अमेरिका के सबसे ज्यादा 51 अरबपति शामिल हैं। दूसरे नंबर पर एशिया महाद्वीप का स्थान है, जहां के 31 उद्योगपतियों को इसमें जगह मिली है।

पढ़ेंः सबसे ज्यादा कमाने वाले 10 एक्टर्स में शुमार अमिताभ, सलमान, अक्षय

Posted By: Sudhir Jha