इस्लामाबाद, आइएएनएस। मुंबई में जिन्ना हाउस को बचाने के लिए पाकिस्तान खुलकर सामने आ गया है। उसने गुरुवार को भारत से जिन्ना हाउस के महत्व का सम्मान करने का आग्रह किया है। महाराष्ट्र के एक भाजपा विधायक ने उसे बंटवारे की निशानी बताकर तोड़ने की मांग की है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नफीस जकारिया ने कहा कि भारतीय सरकार को ऐतिहासिक आवास के महत्व का सम्मान करने की जरूरत है। हमने जिन्ना हाउस को लेकर भारत सरकार के समक्ष अपने रुख को स्पष्ट कर दिया है।

सोमवार को भाजपा विधायक मंगल प्रभात लोढा ने जिन्ना हाउस को गिराने और उसकी जगह पर सांस्कृतिक केंद्र बनाने की मांग की थी। लोढा ने कहा था, 'दक्षिण मुंबई में जिन्ना आवास में भारत के बंटवारे की साजिश रची गई थी। जिन्ना हाउस बंटवारे का प्रतीक है। इस ढांचे को ढहा दिया जाना चाहिए।' उल्लेखनीय है कि मुहम्मद अली जिन्ना कई साल तक मुंबई में रहे और एक समय महात्मा गांधी के करीबी सहयोगी थे। जिन्ना को पाकिस्तान बनने का श्रेय दिया जाता है।

परिस्‍थितियों के जाल में उलझ गई थीं जिन्‍ना की पत्‍नी रुटी पेटिट

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Manish Negi