काबुल। पाकिस्तान के सेनाध्यक्ष राहिल शरीफ की अफगानिस्तान यात्रा के एक दिन बाद तालिबान ने नाटो के काफिले को निशाना बनाते हुए काबुल हवाई अड्डे के पास विस्फोटकों से लदी एक कार हमलावर ने हमला कर दिया। मदरसा के सामने हुए धमाके में एक व्यक्ति की मौत हो गई, जबकि 33 अन्य घायल हो गए हैं।

तालिबान ने अफगानिस्तान में पिछले कुछ दिनों से आतंकी हमले बढ़ा दिए हैं। काबुल के पुलिस प्रमुख अब्दुल रहमान रहीमी ने सोमवार सुबह को हवाई अड्डे के समीप हुए हमले की पुष्टि की है। गृह मंत्रालय के प्रवक्ता सेदिक सिद्दीकी ने एक नागरिक के मारे जाने की बात कही है। हमले में सुरक्षा एजेंसी का एक वाहन भी क्षतिग्रस्त हो गया है। दूसरी तरफ, तालिबान के प्रवक्ता जबिउल्ला मुजाहिद ने आत्मघाती हमले की जिम्मेदारी लेते हुए कई विदेशी जवानों के मारे जाने का दावा किया है।

तालिबान आतंकी हमलों में मारे जाने वालों की संख्या बढ़ा-चढ़ाकर पेश करता रहता है। मालूम हो कि हेलमंद के सांगिन पर हमला कर तालिबान ने कब्जा जमा लिया है। शहर को मुक्त कराने के लिए अभियान चल रहा है।पाकिस्तान में आतंकियों का पनाहगाहअमेरिकी सुरक्षा विशेषज्ञ डेविड सेडनी ने कहा कि तालिबान को पाकिस्तान में जब तक सुरक्षित पनाह मिलता रहेगा, आतंकी हमले बंद नहीं होंगे। डेविड अमेरिकी रक्षा मंत्रालय की ओर से अफगानिस्तान और पाकिस्तान में अपनी सेवाएं दे चुके हैं।

Posted By: Kamal Verma