लंदन। अलकायदा द्वारा आतंकी हमले की विश्वसनीय सूचना मिलने के बाद ब्रिटेन के सबसे व्यस्त हीथ्रो एयरपोर्ट को हाई अलर्ट जारी किया गया है। मीडिया रिपोर्टो में कहा गया है कि इन हमलों को महिला आत्मघाती हमलावरों द्वारा अंजाम दिया जा सकता है।

'द मिरर' के मुताबिक, खुफिया रिपोर्टो में कहा गया है कि अलकायदा लंदन से बाहर जाने वाली फ्लाइटों पर हमले की रच रहा है जिसके बाद सुरक्षा जांच को कड़ा कर दिया गया है। अखबार ने एक एयरपोर्ट अधिकारी के हवाले से कहा, 'हमले की आशंका को लेकर भय होना स्वाभाविक है। हमें महिलाओं को लेकर खास तौर पर सजग रहने को कहा गया है। उनके स्तनों में प्रत्यारोपण के जरिए विस्फोटकों केछुपे होने की आशंका है। यह काफी मुश्किल काम है, लेकिन हमें हाई अलर्ट जारी किया गया है।' उन्होंने बताया कि सुरक्षा जांच में समय लगने के कारण हीथ्रो पर लंबी कतारें लगी हैं। यह गर्मियों की छुट्टियों का मौसम है इसलिए कोई शिकायत नहीं कर रहा।

माना जा रहा है कि अलकायदा के प्रमुख बम निर्माता इब्राहीम अल असीरी ने प्रत्यारोपण के माध्यम से विस्फोटकों को शरीर में छुपाने की विधि ईजाद की है ताकि एयरपोर्ट पर स्कैनर के माध्यम से की जाने वाली जांच को मात दी जा सके।

रिपोर्ट में कहा गया है कि हाल ही में पाकिस्तान की जेल से सैकड़ों की संख्या में कई कैदियों के फरार होने के बाद इस बात की भी आशंका है कि अपने नापाक मंसूबों को अंजाम देने के लिए अलकायदा के पास आतंकियों की कमी नहीं है। विस्फोटक विशेषज्ञ एंडी ओपनहेमेर ने कहा, 'इस बात की आशंका है कि अलकायदा एयरपोर्ट पर स्कैनर की जांच को मात देने के लिए आतंरिक उपकरणों के उपयोग की साजिश रच रहा है। इन विस्फोटकों को स्तन में प्रत्यारोपित किया जा सकता है।' एक अन्य विशेषज्ञ ने कहा कि स्तन में प्रत्यारोपित बम में अन्य तरल इंजेक्शन लगाकर विस्फोट कराया जा सकता है। विशेषज्ञों के मुताबिक मौजूदा तकनीक की मदद से इसे पकड़ना मुश्किल है। अलकायदा इस मामले में उनसे एक कदम आगे है।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस