वाशिंगटन, एएनआइ। डोनाल्‍ड ट्रंप ने अमेरिका के पूर्व राष्‍ट्रपति बराक ओबामा के हेल्‍थकेयर कानून 'ओबामाकेयर' को इलेक्‍शन कैंपेन के दौरान डिजास्टर बताया था। कैंपेन के दौरान उन्‍होंने 'ओबामाकेयर' पॉलिसी को खत्‍म करने की बात कही थी। राष्‍ट्रपति पद की शपथ ग्रहण करने के कुछ घंटों बाद ही ट्रंप ने एक आदेश जारी कर ओबामाकेयर को फ्रीज कर दिया था। लेकिन ट्रंप ओबामाकेयर को रद करने में सफल नहीं रहे। 

बता दें कि नए हेल्थकेयर बिल पर वोटिंग के ठीक पहले बिल वापस ले लिया गया। इसके पीछे सबसे बड़ा कारण रिपब्लिकन सदस्यों के बीच मतभेद था। हालांकि ट्रंप की ओबामाकेयर को नष्‍ट करने की कोशिश जारी है। ट्रम्प प्रशासन ओबामाकेयर को निरस्त करने और बदलने की कोशिश के बीच दो हाउस रिपब्लिकन, बिली लोंग और फ्रेड अप्‍टन से मुलाकात करेंगे। 

इधर अप्‍टन अपनी बात पर कायम हैं। अप्‍टन ने सीएनएन से कहा, 'पहले दिन से मैंने उन लोगों के अधिकारों का समर्थन किया है, जो इस हेल्‍थकेयर पॉलिसी में कवर हो रहे हैं। इसमें ऐसे लोगों को भी शामिल किया जा रहा है, जो पहले से बीमारियों से ग्रसित हैं। मेरे विचार में यह अच्‍छा है और मैं इसे खत्‍म करने का हिस्सा नहीं बन सकता।'

अप्टन उन लोगों में शुमार हैं, जिन्‍होंने विधेयक रद करने के खिलाफ मतदान किया। उन्‍होंने कहा, 'हां, इसे ठीक करने के कई तरीके हैं, लेकिन मौजूद प्रस्ताव काम नहीं कर रहे हैं।'

पूर्व-मौजूदा स्थितियों के साथ संशोधित बिल के तहत बीमाकर्ताओं द्वारा उच्च प्रीमियम का भुगतान किया जा सकता है। खबर के मुताबिक, ये वार्ता निर्धारित करेगी कि क्या रिपब्लिकन संशोधित बिल को पारित कर सकते हैं, क्योंकि डेमोक्रेट को नकारात्मक वोट देने की उम्मीद नहीं है। 

इसे भी पढ़ें: ट्रंप का बदला रूख, भारत की चिंताओं का रखा ख्याल

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस