बीजिंग (एजेंसी)। रविवार से शुरू हुए ब्रिक्स देशों (ब्राजील, रूस, भारत, चीन, दक्षिण अफ्रीका) के विदेश मंत्रियों की बैठक के दौरान भारत ने कहा है कि ब्रिक्स को आतंकवाद का सख्ती से मुकाबला करना चाहिए। वहीं चीन ने कहा कि इस बैठक के दौरान आतंकवाद के मुद्दे पर 'बिना लाग लपेट' के चर्चा होगी। बीजिंग ने यह भी कहा है कि सदस्य देशों की बैठक में इस मुद्दे पर मतभेद नहीं होने की संभावना है।

बैठक में भारत का प्रतिनिधित्व विदेश राज्य मंत्री जनरल (रिटायर) वीके सिंह कर रहे हैं। भारत संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तानी आतंकवादी मसूद अजहर पर प्रतिबंध लगाने के भारत के प्रयास में चीन के अवरोध के मुद्दे को उठा सकता है। वीके सिंह ने कहा कि ब्रिक्स देशों के सभी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जुलाई में मुलाकात करेंगे।

उन्होंने बताया, 'आतंकवाद पर बनी ब्रिक्स संयुक्त कार्यसमिति ने मई 2017 में बैठक की थी।' उन्होंने कहा संयुक्ट राष्ट्र संघ में मौजूद हमारे स्थायी प्रतिनिधि आपसी हित के मुद्दों को लेकर लगातार कोशिशें कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें: चीनी विदेश मंत्री से मिले वीके सिंह

यह भी पढ़ें: ब्रिक्‍स में अपने 'मित्र देशों' की एंट्री चाहता है चीन , कम होगा भारत का प्रभाव

Posted By: Kishor Joshi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस