मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

काबुल, एएफपी। एक के बाद एक हुए धमाकों और गोलीबारी ने सोमवार को अफगानिस्तान की राजधानी काबुल को हिला कर रख दिया। एक आत्मघाती हमलावर ने इराकी दूतावास के बाहर खुद को बम से उड़ा लिया।

एक सुरक्षा अधिकारी ने बताया कि आसपास मौजूद आम नागरिकों को वहां से सुरक्षित जगह पहुंचाया गया। हमले में मारे जाने वाले लोगों की संख्या की तत्काल पुष्टि नहीं हो सकी है। इराकी दूतावास में हुए आतंकी हमले की जिम्मेदारी खूंखार आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ने ली है। खास बात है कि एक सप्ताह पहले ही काबुल में हुए आतंकी हमले में 35 लोगों की मौत हो गई थी। तब हमले की जिम्मेदारी तालिबान ने ली थी।

आतंकी संगठन आइएस ने अपनी आधिकारिक न्यूज एजेंसी 'अमाक' के जरिये इस हमले की जिम्मेदारी ली है। आइएस के मुताबिक 2 आतंकियों ने इसको अंजाम दिया है। इराकी दूतावास में यह आतंकी हमला स्थानीय समय के अनुसार सुबह 11 बजे हुआ। अफगानिस्तान सरकार का कहना है कि चार घंटे तक चले संघर्ष के बाद सारे आतंकियों को मार गिराया गया। दूतावास के सभी कर्मचारी सुरक्षित हैं और केवल एक पुलिसकर्मी घायल हुआ है। सरकार का कहना है कि आत्मघाती हमलावर के अतिरिक्त चार आतंकियों ने दूतावास पर हमला बोला। त्वरित कार्रवाई दस्ते ने मौके पर पहुंचकर दूतावास को खाली कराया और कर्मियों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया।

गौरतलब है कि आइएस को इराक के मोसुल में बड़ा झटका लगा है। उसके बाद से आतंकी संगठन पूर्वी अफगानिस्तान में अपने जड़े जमा रहा है। उधर, अमेरिका के साथ मिलकर अफगानिस्तान सरकार आतंकियों को बाहर खदेड़ने पर आमादा है। तालिबान के खिलाफ लगातार हमले किए जा रहे हैं तो आइएस को भी नहीं बख्शा जा रहा। लगातार ड्रोन से आतंकियों पर हमले किए जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें: ऑस्ट्रेलिया में विमान मार गिराने की आतंकी साजिश विफल

Posted By: Manish Negi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप