जागरण टीम, थुनाग/सरकाघाट : मूसलधार वर्षा से मंगलवार रात को हुई सराज व सरकाघाट में लोगों को परेशानी हुई। भारी बारिश के कारण जहां जंजैहली-मंडी मुख्य सड़क पर मलबा आने के कारण रातभर मालवाहक सहित पर्यटक वाहन फंसे रहे, वहीं सरकाघाट में सड़क किनारे नालियां न होने के कारण बारिश का पानी तीन दुकानों और पांच घरों में घुस गया।

बारिश के कारण सरकाघाट नगर परिषद के रामनगर लाका संपर्क सड़क के किनारे पक्की नाली और डंगों का निर्माण न होने से बारिश का पानी तीन दुकानो और पांच मकानो में घुस गया। कल्पना देवी, विद्यासागर, देवी चंद, महेन्द्र सिंह और धर्मेद्र ने बताया कि बारिश के दौरान पूरी रात पानी के बहाव को रोकने में लगे रहे। पानी पुराने सत्संग घर तक सड़क से बहता है। देवी चंद ने बताया कि उनके बेटे महेंद्र और धर्मेद्र ने सड़क के निचली तरफ नए मकान बनाए हैं। नालियां न होने के कारण पानी उनके घरों में घुसता है। प्रेम सिंह, जितेंद्र कुमार ने कहा कि बारिश का पानी उनकी दुकान में आने से उनको नुकसान हुआ है। विभाग बता ने के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है। अब कार्रवाई नहीं हुई तो हम कार्यालय का घेराव करेंगे। उधर, लोक निर्माण विभाग के अधिशाषी अभियंता एमआर राणा ने बताया कि मौसम के खुलते ही सड़क की मरम्मत कर दी जाएगी।

वहीं, जंजैहली-मंडी सड़क पर मलबा आने के कारण सेब लेकर जा रहे ट्रक व अन्य वाहन रातभर सड़क पर ही फंसे रहे। हालांकि यहां से वाया तांदी होकर वाहन भेजे गए, लेकिन सड़क तंग होने के कारण वहां जाम लग गया। साथ ही सेब को नुकसान हुआ है। कारोबारी नरेश ठाकुर ने कहा कि मार्ग बंद होने से लोगों को परेशानी उठानी पड़ी है। लोक निर्माण विभाग के एसडीओ अजय गुप्ता ने कहा कि सड़क पर पेड़ और पत्थर आने की वजह से सड़क अवरुद्ध थी। सुबह पत्थर को ब्लास्ट करके तोड़ा गया करीब नौ बजे सड़क बहाल कर दी गई थी।

Edited By: Jagran