जागरण संवाददाता, देहरादून: Uttarakhand Weather Update: उत्तराखंड में लगातार हो रही वर्षा से फिलहाल राहत मिलने के आसार नहीं दिख रहे हैं। मौसम विभाग के अनुसार आज फिर कई क्षेत्रों में भारी बारिश होगी। देहरादून, टिहरी गढ़वाल, उत्तरकाशी में भारी बारिश होने की संभावना है। वहीं, अगले 24 घंटों में बागेश्वर, चमोली, देहरादून, पिथौरागढ़, रुद्रप्रयाग, टिहरी गढ़वाल, उत्तरकाशी के कुछ स्थानों पर भी तेज बारिश हो सकती है। बता दें कि पिछले पांच दिनों से हो रही भारी वर्षा से पर्वतीय क्षेत्रों में जन-जीवन प्रभावित है। भूस्खलन के कारण यात्रा मार्गों पर आवाजाही बाधित हो रही है। चोटियों पर हिमपात से तापमान में गिरावट आई है।

देहरादून में आज सभी शिक्षण संस्थान बंद

कई दिनों से आ रही बारिश के चलते प्रशासन भी सावधानी बरत रहा है। अगले 24 घंटों में भी देहरादून के कई इलाकों में भारी बारिश की संभावना है। इसको देखते हुए अब के चलते देहरादून के मुख्य शिक्षा अधिकारी मुकुल कुमार ने आज यानी सोमवार को सभी शिक्षण संस्थान बंद रखने का निर्देश दिया है। बता दें कि महाराजा अग्रसेन जयंती के उपलक्ष्य पर विदयालय में पहले से ही छुट्टी घोषित है। 

ज्यादातर क्षेत्रों में छाये रहे बादल

प्रदेश में मानसून की सक्रियता बढ़ने और पश्चिमी विक्षोभ के दस्तक देने के कारण आसमान से आफत बरस रही है। रविवार को भी देहरादून समेत ज्यादातर क्षेत्रों में बादल छाये रहे और हल्की से मध्यम वर्षा के एक से दो दौर हुए। हालांकि, रात को वर्षा का सिलसिला कुछ कम हुआ। मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह के अनुसार, प्रदेश में आज आंशिक बादल छाये रह सकते हैं। पर्वतीय क्षेत्रों में हल्की से मध्यम वर्षा के आसार हैं। जबकि, अन्य क्षेत्रों में गरज के साथ बौछार पड़ सकती हैं। चोटियों पर हिमपात और निचले क्षेत्रों में वर्षा के चलते ज्यादातर हिस्सों में पारे में दो से चार डिग्री सेल्सियस तक की गिरावट दर्ज की गई है।

बदरीनाथ व हेमकुंड की चोटियों पर बर्फबारी

चमोली जिले में रविवार को बदरीनाथ धाम व हेमकुंड की चोटियों में हल्की बर्फबारी से क्षेत्र में ठंड ने दस्तक दी है। वहीं, निचले क्षेत्रों में सुबह से आसमान में बादल छाए रहे और शाम को हुई वर्षा से ठंड महसूस होने लगी। बदरीनाथ धाम व हेमकुंड साहिब में दर्शनों को आए पर्यटकों व तीर्थयात्रियों ने चोटियों में हुई बर्फबारी का आनंद लिया। उधर, जोशीमठ-मलारी हाईवे सलधार के पास शनिवार सुबह नौ बजे पहाड़ी से मलबा आने से अवरुद्ध हो गया था, जिसे शाम चार बजे यातायात के लिए सुचारु कर दिया गया।

भूस्खलन से अवरुद्ध हुए गंगोत्री व यमुनोत्री हाईवे

भारी वर्षा के कारण रविवार को गंगोत्री और यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग अवरुद्ध हुए। गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर हेल्गूगाड़ व सुनगर के बीच दिनभर रुक-रुककर भूस्खलन होता रहा। भूस्खलन के बीच जान जोखिम में डालकर कई वाहनों की आवाजाही करवाई गई। इस स्थान पर कभी भी बड़ी घटना घट सकती है। रविवार को अधिकांश तीर्थयात्रियों ने गंगोत्री धाम की तीर्थयात्रा स्थगित की।

Edited By: Sumit Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट