प्रयागराज, विधि संवाददाता। अधिवक्ताओं की समस्या को लेकर उत्तर प्रदेश बार काउंसिल के पदाधिकारियों ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की। नेतृत्व कर रहे काउंसिल के अध्यक्ष मधूसुदन त्रिपाठी ने अधिवक्ताओं की चिकित्सा व मृतक आश्रितों के दावों के भुगतान को लेकर आ रही समस्या से अवगत कराया।

पांच लाख रुपये तक चिकित्सा सुविधा दिलाने का अनुरोध किया सीएम से

मुख्यमंत्री से कहा कि अधिवक्ताओं को पांच लाख रुपये तक चिकित्सा सुविधा मुहैया कराने अथवा आयुष्मान भारत योजना से जोड़ा जाय। इससे उन्हें इलाज कराने में सहूलियत मिलेगी। साथ ही मृतक अधिवक्ताओं के दावों के भुगतान करने, प्रदेश के हर जिला में अधिवक्ताओं के लिए चैंबर बनाने की मांग की। कहा कि कहा कि जिला न्यायालयाें में सुरक्षा का उचित प्रबंध नहीं है। कोई भी व्यक्ति बिना रोक-टोक के कुछ भी लेकर आ-जा सकता है। इससे किसी भी समय बड़ी घटना हो सकती है। ऐसा न हो उसके लिए सुरक्षा का पुख्ता प्रबंध करने की जरूरत है। इस मौके पर पूर्व अध्यक्ष परेस मिश्र, उपाध्यक्ष प्रदीप कुमार सिंह, पूर्व सह अध्यक्ष शिव किशोर गौड़ आदि मौजूद रहे।

महंत नरेंद्र गिरि मामले में फिर टल गई अदालत में सुनवाई

प्रयागराज : महंत नरेंद्र गिरि को आत्महत्या के उकसाने के आरोप में चल रही मुकदमे की सुनवाई टल गई है। आरोपित आनंद गिरि, आद्या प्रसाद व उनके बेटे संदीप के विरुद्ध आरोप तय होने के लिए बुधवार को जिला जज की कोर्ट में सुनवाई होनी थी, लेकिन जिला जज की अदालत रिक्त होने के कारण मामले की सुनवाई नही हो सकी। अदालत ने सुनवाई के लिए 31 अगस्त की तिथि नियत की है।

Edited By: Ankur Tripathi