संवाद सहयोगी, जालंधर

इंडस्ट्री एरिया के पास यूको बैंक में हुई लूट के मामले में गिरफ्तार आरोपित विनय तिवाड़ी लूट के बाद एक दिन जालंधर में रहा और फिर दिल्ली चला गया था। दिल्ली में उसका फूफा रहता था। वह फूफा के पास जाकर पांच दिन रहा। विनय वहां पर अपने फूफा को नौकरी दिलवाने के लिए मिन्नतें करता रहा। पुलिस ने विनय को वहां से काबू किया तो जांच में सामने आया कि उसके फूफा को कुछ भी नहीं पता था। पुलिस ने पूछताछ के बाद फूफा को छोड़ दिया। वहीं तरुण लूट के बाद से अपने घर पर ही छिपा रहा। गिरफ्तारी से पहले वो घर से एक बार कहीं और नहीं गया था। मामला शांत होने के बाद सभी ने लूट की रकम आपस में बांटनी थी। अब पुलिस फरार आरोपित गोपी की तलाश में जुट गई है। बताया जा रहा है कि पुलिस को काफी अहम सुराग हाथ लगे हैं। डीसीपी जसकिरण जीत सिंह तेजा ने बताया कि आरोपित गोपी की तलाश में छापेमारी की जा रही है और जल्द ही उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा। पुलिस सोमवार को आरोपितों को अदालत में पेश कर रिमांड बढ़ाने का प्रयास करेगी। यह है मामला

बीते दिनों इंडस्ट्री एरिया के पास यूको बैंक में दिनदहाड़े लूट हुई थी। पुलिस को दिए बयानों में कैशियर प्रेम कुमार ने बताया था कि लंच टाइम खत्म हुआ था। करीब तीन बजकर चार मिनट पर तीन युवक अंदर आए। इनमें से दो के हाथ में पिस्तौल थी। एक लुटेरे ने गन प्वाइंट पर मैनेजर एमएस मोती सहित तमाम अधिकारियों धमकाया। दूसरे लुटेरे के हाथ में तेजधार हथियार था। उसने सारे ग्राहकों को जमीन पर बिठा दिया। तीसरे आरोपित, जिसके हाथ में पिस्तौल था, वह केबिन के पास आया और मेज पर चढ़कर कैश काउंटर का शीशा तोड़ अंदर आ गया। उसने गन प्वाइंट पर लेकर सारा कैश लूट लिया। तीन बज कर आठ मिनट पर लुटेरे वहां से निकल गए। जाते-जाते लुटेरे सभी को स्ट्रांग रूम में बंद कर गए थे।

Edited By: Jagran