जितने संगठन खड़े होंगे, उतनी बुलंद होगी आवाज

जेएनएन, अमरोहा: भारतीय किसान यूनियन अराजनीतिक टिकैत गुट के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि अगर कोई गलत काम हो रहा है या सरकार गलत योजना लेकर आ रही है तो उसका विरोध किया जाएगा। इसके लिए देश में बड़े आंदोलन की जरूरत पड़ेगी, जिसके लिए जनता तैयार रहे। बुधवार अपराह्न करीब दो बजे डिडौली गांव में कही। लखीमपुर मुख्यालय पर 18 अगस्त से शुरू होने वाले तीन दिवसीय कार्यक्रम में शामिल होने जा रहे राष्ट्रीय प्रवक्ता रास्ते में कुछ देर डिडौली गांव में हाईवे किनारे स्थित पेट्रोल पंप पर ठहरे। यहां मीडिया ने उनसे संगठन के कई हिस्सा में बंटने का कारण पूछा। इसका जवाब में उन्होंने कहा कि सरकारें तानाशाही की तरफ जा रही हैं। जो संगठन आवाज उठाता है, उसको तोड़ने का शुरू हो जाता है। ऐसी सरकारों को सबक सिखाना बेहद जरूरी है। जितने संगठन खड़े होंगे, उतनी आवाज तेज होगी। उन्होंने कहा कि यह सरकार बड़े व्यापारियों का एक गठजोड़ है। इसने पूरे देश पर कब्जा कर लिया है। बिहार का किसान बाहर जाकर मजदूर बन जाता है। यही हालात देश में सभी जगह बन रहे हैं। सरकारें किसानों को मजदूर बना रही हैं। जिसे अब बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। लखीमपुर कांड पर उन्होंने कहा कि अजय मिश्र टैनी को पुलिस ने 120 बी का मुल्जिम नहीं बनाया है। इसलिए लखीमपुर में सरकार के खिलाफ गुरुवार से तीन दिवसीय आंदोलन शुरू होगा। इस दौरान जिलाध्यक्ष चौधरी रामपाल सिंह, धर्मवीर सिंह, मुकेश कुमार, धर्मेंद्र चौहान, महेंद्र गुर्जर, बादशाह हुसैन, इंतजार अली, सत्यपाल सिंह, कावेंद्र सिंह, इंसाफ अली आदि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran