संवाद सूत्र, नरवाना: इस बार जिला स्तरीय स्वतंत्रता समारोह नरवाना के मेला अनाज मंडी में आयोजित किया जाएगा। इसके चलते शनिवार को यहां कार्यक्रम की तैयारियों को जांचने के लिए फाइनल रिहर्सल हुई। इसमें डीसी डा. मनोज कुमार ने परेड का निरीक्षण किया और ध्वजारोहण किया। फाइनल रिहर्सल के दौरान काफी खामियां रही और अधिकारियों व कर्मचारियों की गंभीरता पर भी सवाल उठे।

फाइनल रिहर्सल के दौरान कई अधिकारी कार्यक्रम में गंभीर नहीं दिखे। इस पर एसपी नरेंद्र बिजरानिया को समारोह समाप्त होने के बाद माइक से उन्हें समझाना पड़ा। इस दौरान डीसी डा. मनोज कुमार ने कहा कि स्वतंत्रता दिवस देशवासियों के लिए गौरव एवं गर्व का दिन है। इस राष्ट्र पर्व को सभी देशवासी बड़ी धूमधाम से मनाते हैं और शहीदों के प्रति श्रद्धांजलि देते हैं। इस बार 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस समारोह के मुख्यातिथि प्रदेश के श्रम एवं रोजगार राज्य मंत्री अनूप धानक होंगे। उन्होंने कहा कि हमारे देश के शहीदों, स्वतंत्रता सेनानियों जिन्होंने इस आजादी के पर्व के लिए अमावीय यातनाएं सही व अपनी जिदगी भर की कमाई भी दाव पर लगाई है। इस एसडीएम नीरज, सिटीएम अमित कुमार, एक्सईएन लोकेश डागर, बीईओ डा. ज्योति श्योकंद, राजेश टांक, दिलबाग शास्त्री मौजूद रहे।

-----------------------

नहीं पहुंचे कई अधिकारी

फाइनल रिहर्सल के दौरान मंच के साथ दोनों तरफ अधिकारियों व कर्मचारियों के लिए कुर्सियां लगाई गई थी। परंतु कई विभाग के अधिकारी तो पहुंचे ही नहीं, जो भी वहां उपस्थित रहे, वे कुर्सियों पर नहीं बैठे। अधिकतर लोग मंच के पीछे खड़े होकर बातों में व्यस्त रहे। यहां कुछ लोग बीड़ी पीते नजर आए तो एसपी नरेंद्र बिजरानियाने उनको पकड़ने के आदेश दिए। एसपी को बाद में कहना पड़ा कि जो व्यक्ति धूम्रपान करता हुआ मिला, तो उसका चालान कर मामला दर्ज किया जाएगा। परेड के दौरान एनसीसी व स्काउट की टुकडिय़ों में कदम ताल की कमी देखने को मिली। इसलिए उनको सही तरीके से परेड में भाग लेने के लिए कहा। अधिकारियों व

कर्मचारियों को जींस पहनने पर एसपी ने स्वतंत्रता दिवस के दिन फार्मल कपड़े पहने को कहा। वहीं राष्ट्रगान

के समय सावधान की मुद्रा में नहीं रहने पर नाराजगी व्यक्त की। डीसी डा. मनोज कुमार ने मंच का दायरा छोटा होने पर उसको बड़ा रखने के निर्देश दिए। फाइनल रिहर्सल में चिकित्सक व एंबुलेंस भी नहीं रही। इस दौरान एक सांस्कृतिक प्रस्तुति में एक प्रतिभागी द्वारा तिरंगा झंडा उल्टा पकड़ लिया गया। इस पर डीसी, एसडीएम की नजर पड़ते ही उसको सीधा करवा दिया। इस मामले में डीसी डा. मनोज कुमार ने कहा कि फाइनल रिहर्सल कमियों को जांचने के लिए ही होती है। इस दौरान जो कमियां सामने आई हैं, उनको दूर किया जाएगा। जो भी अव्यवस्थाएं रहीं हैं, उनको भी सही किया जाएगा।

Edited By: Jagran