चंबा, संवाद सहयोगी। Chamba News, चंबा में हो रही आफत भरी बरसात से हर ओर खतरा बन गया है। भूस्खलन व पहाड़ी दरकने के खतरे के कारण पहाड़ की सर्पीली व ढलानदार सड़कों पर सफर भी खतरनाक हो गया है। जिला में बारिश के कारण हुए भूस्खलन की चपेट में एक बोलेरो गाड़ी क्षतिग्रस्त हो गई है, जबकि उसमें सवार सभी लोग बाल-बाल बचे हैं। इसके अलावा रूट पर जा रही एचआरटीसी की बस पर पत्थर गिर गया। पत्थर बस का शीशा तोड़कर अंदर पहुंच गया, लेकिन बस में सवार सभी यात्री सुरक्षित हैं।

बोलेरो गाड़ी तीसा-बैरागढ़ मार्ग पर तरवाई पुल के समीप पत्थर की चपेट में आई है। गाड़ी में चार लोग सवार थे। जैसे ही गाड़ी तरवाई पुल के पास पहुंची, तो अचानक पहाड़ी से पत्थर गिरने शुरू हुए। पत्थरों को गिरता देखकर उसमें सवार चारों लोगों ने गाड़ी को वहां पर छोड़कर भागना उचित समझा। गाड़ी भूस्खलन व पत्थर की चपेट में आकर क्षतिग्रस्त हो गई।

उधर, मंगलवार को चंबा-कलौता मार्ग पर जा रही निगम की बस पर पहाड़ी पत्थर गिरे। जब बस पर पत्थर गिरे उस समय 15 सवारियां मौजूद थीं।

क्या कहते हैं अधिकारी

अड्डा प्रभारी एचआरटीसी चंबा राजेंद्र का कहना है कि चंबा-कलौता रूट की बस पर पहाड़ी से पत्थर गिरा था, लेकिन सभी यात्री सुरक्षित हैं। वहीं, उपमंडल अधिकारी चुराह गिरीश सामरा का कहना है कि चंबा बैरागढ़ मार्ग पर तरवाई पुल के पास पत्थर की चपेट में आने से बोलेरो क्षतिग्रस्त हुई है, जबकि इसमें सवार सभी लोग सुरक्षित हैं।

बरतें सावधानी

बरसात के मौसम में हर ओर भूस्खलन व पत्थर गिरने का खतरा बढ़ गया है। ऐसे में वाहन चालक व लोग सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए ही गाड़ी में सफर करें, ताकि अनहोनी का खतरा न बन सके। दो दिन पहले चुवाड़ी के बनेट मार्ग पर भी एक कार पत्थर की चपेट में आ गई थी, जिसमें बुजुर्ग की मौत व पांच लोग घायल हुए थे।

Edited By: Virender Kumar