गोरखपुर, जेएनएन। न्यू कोचिंग कांप्लेक्स (कैरेज एंड वैगन डिपो) बौलिया कालोनी में पीने का पानी नहीं मिलने पर रेलकर्मी भड़क उठे हैं। कर्मचारियों ने एनई रेलवे मजदूर यूनियन (नरमू) के महामंत्री केएल गुप्त को पानी की समस्या से अवगत कराया। महामंत्री ने मौके से ही मामले को रेलवे प्रशासन तक पहुंचा दिया। साथ ही 24 घंटे का मोहलत देते हुए आंदोलन की चेतावनी दी है। 

नरमू के महामंत्री केएल गुप्त ने रेलवे प्रशासन के संज्ञान में लाया मामला

महामंत्री के अनुसार कर्मचारियों को महीनों से पीने का पानी नहीं मिल रहा। कर्मचारी घर से पीने का पानी लेकर आते हैं। यह चिंतनीय है। साथ ही रेलवे प्रशासन के सिस्टम पर बड़ा सवाल है। प्रमुख मुख्य यांत्रिक इंजीनियर और महाप्रबंधक तक कर्मचारियों की समस्याओं को पहुंचा दिया गया है। बुधवार को सुबह कर्मचारियों के लिए पानी की व्यवस्था नहीं हुई तो यूनियन आंदोलन को बाध्य होगी। महामंत्री ने कैरेज एंड वैगन कर्मचारियों को सेफ्टी शूज नहीं मिलने पर भी आपत्ति जताई है। उन्होंने रेलवे प्रशासन से यथाशीघ्र शूज उपलब्ध कराने की मांग की है। 

जीएम से मिला पीआरकेएस का प्रतिनिधि मंडल, गिनाई समस्याएं 

पूर्वोत्तर रेलवे कर्मचारी संघ (पीआरकेएस) का प्रतिनिधि मंडल कार्यकारी अध्यक्ष रमेश मिश्रा के नेतृत्व में महाप्रबंधक से मिला। इस दौरान प्रतिनिधि मंडल ने पदोन्नति और टिकट चेकिंग स्टाफ सहित कर्मचारियों की लंबित समस्याओं को रखा। 

संघ के प्रवक्ता एके सिंह ने 2800 ग्रेड पे पर तैनात ट्रैकमेंटनरों को मेठ के पद पर  तथा कांटावाला व फाटकवाला को स्टेशन मास्टर कोटि के 15 फीसद पदों पर पदोन्नति देने की मांग की। विभागीय पदोन्नति परीक्षा के माध्यम से भी चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों को पदोन्नति देने की मांग की। मामलों को सुनने के बाद महाप्रबंधक विनय कुमार त्रिपाठी ने लंबित समस्याओं को यथाशीघ्र निस्तारित करने तथा 31 मार्च तक पदोन्नति के प्रकरणों का समाधान करने का आश्वासन दिया। प्रतिनिधि मंडल में ओपी सिंह, रामकृपाल शर्मा और डीके तिवारी आदि पदाधिकारी मौजूद थे।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप