बदायूं, जेएनएन : कोटे के राशन की कालाबाजारी के मामले में सपा जिला सचिव फहीमउद्दीन को गिरफ्तार कर लिया गया है। सपा जिला सचिव समेत पड़ोस की कोटेदार के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज कराया गया है। कोटेदार के गोदाम में भी गेहूं कम तो चावल अधिक मिला है। अलापुर में पूर्ति विभाग और राजस्व विभाग की टीम ने छापा मारकर ट्रक में चावल लदवाते हुए 487 कट्टे चावल पकड़ा था। मौके से अलापुर नगर क्षेत्र की दुकानों पर राजस्व विभाग और पूर्ति विभाग की टीम लगाकर राशन का वितरण कराया जाएगा। म्याऊं के गोदाम का भी संयुक्त टीम से स्टाक का सत्यापन कराया जा रहा है।

जिले की सार्वजनिक वितरण प्रणाली प्रदेश स्तर पर नजीर बन चुकी है। ई-पॉस मशीन से राशन वितरण कराया जा रहा है। इसके बाद भी राशन की कालाबाजारी का बड़ा मामला पकड़े जाने से सिस्टम पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं। बुधवार शाम पुख्ता जानकारी मिलने पर जिला पूर्ति अधिकारी रामेंद्र प्रताप सिंह ने छापा मारकर अलापुर में रूमा की कोटे की दुकान के पास ही फहीमउद्दीन के घर से ट्रक में चावल की बोरियां लदवाते हुए पकड़ लिया। राजस्व विभाग की टीम के साथ एसडीएम दातागंज कुंवर बहादुर सिंह भी पहुंच गए। मौके पर पुलिस बुला ली गई। ट्रक और घर में रखे खाद्यान्न को कब्जे में ले लिया गया। फहीमुद्दीन को पुलिस ने कल ही हिरासत में ले लिया था। मौके पर मिलीं चावल की 38 बोरियों पर खाद्य एवं रसद विभाग की सील लगी मिली। उनमें 50-50 किलोग्राम चावल भरे थे। इसके अलावा 449 बोरियां हाथ से सिली मिलीं, उनमें 60-60 किग्रा चावल भरे हुए थे। कोटेदार रूमा सिंह मौका पाकर वहां से खिसक गई। उनके गोदाम का सत्यापन कराया गया तो 55 कट्टे चावल मिले, जबकि गेहूं नहीं मिला। जबकि वर्तमान जनवरी माह की एमआइएस रिपोर्ट के मुताबिक, 12.32 किग्रा गेहूं और 8.28 किग्रा चावल होना चाहिए था। स्टाक में 12.32 किग्रा गेहूं कम मिला और 19.22 किग्रा चावल अधिक पाया गया। राशन की कालाबाजारी में फहीमउद्दीन के साथ रूमा की भी संलिप्त मानते हुए दोनों के खिलाफ राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2016 के प्रावधानों के उल्लंघन की धारा 3/7 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस ने फहीमउद्दीन को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। पकड़ा गया खाद्यान्न म्याऊं स्थित एफसीआइ गोदाम प्रभारी की सुपुर्दगी में दिया गया है।

----------------

अलापुर में सरकारी चावल की कालाबाजारी का मामला पकड़े जाने पर आरोपित फहीमउद्दीन को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। फहीमउद्दीन, कोटेदार रूमा के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज कराया गया है। वहां की तीन और कोटे की दुकानें सील कराई गई हैं। संयुक्त टीम बनाकर जांच कराई जा रही है। इस महीने राजस्व विभाग और पूर्ति विभाग की निगरानी में वहां खाद्यान्न का वितरण कराया जाएगा।

-रामेंद्र प्रताप सिंह, जिला पूर्ति अधिकारी

-----------

फहीमउद्दीन सपा के जिला सचिव हैं, लेकिन वह कोटेदार नहीं हैं। उनके मकान से खाद्यान्न मिला है यह जानकारी मिली है। वह मकान किराए पर दिया था या क्या था इसकी जानकारी नहीं है। राजनीतिक द्वेष के तहत प्रशासन से यह कार्रवाई कराई गई है।

-प्रेमपाल सिंह, जिलाध्यक्ष सपा

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021