प्रयागराज, जेएनएन। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ राष्ट्र निर्माण के अपने सतत लक्ष्य के साथ ही परम वैभव समाज की परिकल्पना को साकार करने की दिशा में बढऩे जा रहा है। एक ऐसा समाज जहां किसी को कोई दु:ख न हो और सभी एक-दूसरे के सहयोग में जुटें हों। ये बातें रविवार को प्रयागराज में संघ की अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल की पूर्वी उत्तर प्रदेश क्षेत्र की दो दिवसीय बैठक के उद्घाटन सत्र में संघ प्रमुख मोहन भागवत ने पदाधिकारियों से कहीं। उद्घाटन सत्र के संबोधन में संघ प्रमुख मोहन भागवत ने पदाधिकारियों को संदेश दिया कि स्वयंसेवकों को समरसता से परिपूर्ण समाज के निर्माण में लगाएं। कहा, दूरगामी योजनाओं को लेकर आत्मनिर्भर भारत के लिए स्वयंसेवक खुद को समाज के लिए समर्पित कर दें।

जिला मुख्यालय से करीब 28 किमी दूर गौहनिया में वशिष्ठ वात्सल्य पब्लिक स्कूल में संघ की बैठक में रविवार को चार सत्रों में चर्चा हुई। इसमें आरएसएस के काशी, कानपुर, अवध और गोरक्ष प्रांत के 31 प्रमुख पदाधिकारी शामिल हुए। इस दौरान कोविड काल में चारों प्रांतों की तरफ से किए गए सेवा कार्यों की समीक्षा बारी-बारी से की गई। सूत्रों के अनुसार उद्घाटन सत्र में संघ प्रमुख ने स्वयंसेवकों को चौबीसों घंटे समाज के लिए उपलब्धता बनाए रखने का आह्वान किया।

संघ प्रमुख मोहन भागवत ने संघ को समाज की आवश्यकताओं के अनुरूप सेवाकार्य में अधिकाधिक जोड़ने पर बल दिया। देश की वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए स्वयंसेवकों से अपील की है कि वे अपनी जीवनशैली और व्याप्तता को समाज की जरूरतों के अनुसार तय करें। बैठक में सर कार्यवाह भैयाजी जोशी, सह सरकार्यवाह कृष्णगोपाल, दत्तात्रेय होसबोले, डॉ. मदनमोहन, मुकुंद के अलावा अखिल भारतीय अधिकारी बालकृष्ण त्रिपाठी, अनिल ओक व अजीत महापात्रा के अलावा चारों चारों प्रांत के प्रांत प्रचारक, प्रांत कार्यवाह, प्रांत संघचालक आदि शामिल रहे।

बेरोजगारों को स्वरोजगार से जोड़ें : संघ प्रमुख मोहन भागवत ने कोरोना काल में उपजी बेरोजगारी के समाधान का भी तरीका सुझाया है। उन्होंने पदाधिकारियों से कहा है कि स्वयंसेवकों के माध्यम से बेरोजगारों को स्वरोजगार के लिए प्रोत्साहित कराएं। उन्हें कुटीर उद्योग के लिए प्रेरित करें और जहां जैसी आवश्यकता हो सामथ्र्य के अनुसार मदद करें।

बस्तियों में बढ़ाएं सेवाकार्य : अनुसूचित जाति व जनजाति से जुड़े लोगों के हो रहे धर्मांतरण को लेकर भी संघ की चिंता बढ़ी है। कार्यकारी मंडल की बैठक में संघ प्रमुख ने पदाधिकारियों को निर्देश दिया कि धर्मांतरण पर प्रभावी नियंत्रण के लिए अनुसूचित जाति व जनजाति की बस्तियों में सेवाकार्य को तेज किए जाए।

संघ प्रमुख से सीएम ने की मंत्रणा : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार की शाम प्रयागराज पहुंचकर संघ प्रमुख मोहन भागवत से मुलाकात की। सीएम और संघ प्रमुख के बीच करीब 45 मिनट तक वार्ता हुई। इस दौरान सर कार्यवाह भैयाजी जोशी भी मौजूद रहे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस