जम्मू, राज्य ब्यूरो: जम्मू कश्मीर में बिजली विभाग केे कर्मचारियों की सुरक्षा को जारी वर्ष में अहमियत दी जाएगी। बिजली मरम्मत के दौरान होने वाली दुर्घटनाओं में कर्मचारियों की मौतों पर रोक लगाने के लिए बिजली विभाग सुरक्षा उपकरणों की खरीद पर पांच करोड़ रूपये खर्च करेगा।

तय लक्ष्य के तहत मरम्मत कार्यों के दौरान कर्मचारियों को बिजली की करंट से बचाने के लिए बिजली विभाग 11 केवीए के सभी फीडर्स पर अर्थिंग राड लगाएगा। इससे बिजली की तार की मरम्मत के दौरान दुर्घटनावश बिजली आ जाने की स्थिति में भी मरम्मत कर रहे कर्मचारी की जान नही जाएगी। इसके साथ बिजली की मरम्मत करने वाले सभी कर्मचारियों के लिए सेफ्टी आइसोलेटर आदि भी खरीदें जाएंगे।

फील्ड स्टाफ को निरंतर प्रशिक्षण देने के साथ उन्हें बिजली की करंट से बचाने वाली पीपीई किट, गल्व्स, जूते व सेफ्टी बेल्ट जी जाएगी। इस संबंध में जम्मू व कश्मीर की पावर डेवेलपमेंट कारपोरेशनों को निर्देश जारी कर दिए किए हैं कि फील्ड अधिकार सुरक्षा के पुख्ता 8 प्रबंध सुनिश्चित करें ।

मंगलवार को बिजली विभाग के प्रमुख सचिव रोहित कंसल ने उच्च स्तरीय बैठक में बिजली विभाग के कर्मचारियों की सुरक्षा को लेकर उठाए जा रहे कदमों का जायजा लिया। इस दौरान कर्मचारियों को सुरक्षा के लिए दी जाने वाले ड्रेस के बारे में जानकारी दी गई। प्रमुख सचिव ने जोर दिया कि विभाग बिजली की मरम्मत को लेकर स्टेंडर्ड आपरेटिंग प्रोसीजर अपनाए।

फील्ड स्टाफ के काम करने संबंधी नियम बनाए जाएं। इसके साथ माक सेफ्टी ड्रिल के माध्यम से कर्मचारियों को सुरक्षा मानकों के बारे में जागरूक बनाया जाए। इसके साथ यह फैसला भी हुआ कि विभाग के सुरक्षा अधिकारी हर महीने माक ड्रिल कर फील्ड स्टाफ को सुरक्षा के लिए उठाए जाने वाले कदमों के गबारे में जानकारी देने के साथ पीपीई किट, गल्व्स, जूते व सेफ्टी बेल्ट के इस्तेमाल के बारे में भी बताया जाएगा।

 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप