संवाद सहयोगी, अमृतसर : मकर संक्रांति पर श्री दुग्र्याणा तीर्थ के पवित्र सरोवर में श्री हरिद्वार धाम की परंपरा के अनुसार मां गंगा की आरती में सैकड़ों श्रद्धालु उमड़ पड़े। वीरवार को पूर्ण विधि विधान के अनुसार पुजारियों ने गंगा आरती के लिए शंखनाद किया। भक्तों ने पवित्र सरोवर के निकट हाथों में दीप पकड़ मां गंगा की आरती की और गंगा मैया के जयघोष लगाए।

इस दौरान श्री दुग्र्याणा तीर्थ के मुख्य पुजारी पंडित बाल किशन, संजीव शास्त्री, राजेश शास्त्री व अन्य पुजारियों की ओर से भगवान लक्ष्मी नारायण, श्री राधा कृष्ण तथा श्री राम दरबार में सुशोभित विग्रहों का पूजन किया गया। उसके उपरांत सभी विग्रहों का भव्य श्रृंगार किया गया। भक्तजन ठाकुर जी के भव्य और मनमोहक स्वरूप को देखकर मंत्रमुग्ध हो उठे।

तीर्थ परिसर में बने श्री लक्ष्मी नारायण मंदिर, श्री सत्य नारायण मंदिर, श्री तुलसीदास मंदिर व अन्य मंदिरों में भी आरती की गई। यह मनमोहक नजारा भक्तजनों ने अपने मोबाइल में कैद किया। श्री गंगा आरती के बाद श्री लक्ष्मी नारायण मंदिर में महंत राघव दास जी द्वारा हरिनाम संकीर्तन किया गया। इसके अलावा श्री लक्ष्मी नारायण संकीर्तन मंडल के चेयरमैन संजीव खन्ना, रघु वर्मा, रिकू शर्मा, साक्षी देवी, कनन, नंदिता व अन्य ने भी ठाकुर जी का गुणगान किया।

श्री दुग्र्याणा कमेटी के प्रधान रमेश शर्मा, महासचिव अरुण खन्ना, इंजीनियर रमेश शर्मा, राज कुमार वधवा ने बताया कि हर माह की संक्रांति पर श्री गंगा आरती तीर्थ परिसर में की जाती है। श्री गंगा आरती करवाने का उद्देश्य यह है कि भक्तजन श्री हरि धाम की तरह श्री गंगा आरती का आनंद श्री दुग्र्याणा तीर्थ में उठा सकें। इस अवसर पर काफी संख्या में भक्तजन मौजूद थे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021