जागरण संवाददाता, तरनतारन : मोगा शहर के जवाहर नगर निवासी कपड़ा व्यापारी राजिंदर कुमार (53), भारत भूषण (56) के शवों को पुलिस ने वीरवार को स्वजनों के सुपर्द कर दिया। स्वजनों ने एक दिन पहले ही इस मामले में कोई भी कानूनी कार्रवाई करने से मना कर दिया था।

कारोबार के सिलसिले में मोगा निवासी कपड़ा व्यापारी राजिंदर व भारत भूषण बोलेरो (पीबी 10 बीजेड 8711) में अमृतसर से मोगा लौट रहे थे। बुधवार की शाम को गांव जौणेके समीप सड़क किनारे रेत से भरा ट्रक खड़ा था। बोलेरो तेजी से आई और बेकाबू होकर ट्रक के पीछे जा घुसी। इस हादसे में दोनों कपड़ा व्यापारियों की मौत हो गई थी। थाना चोहला साहिब के प्रभारी यादविंदर सिंह भुल्लर मौके पर पहुंचे व शवों को कब्जे में ले लिया था। घटना के दौरान मरहाणा निवासी हरविंदर सिंह नामक व्यक्ति ने मृतकों के स्वजनों को हादसे की जानकारी दी। हरविंदर ने मृतकों के मोबाइल, पर्स, नकदी व अन्य कागजात बोलेरो से निकालकर कब्जे में ले लिए थे, जो बाद में मौके पर पहुंचे परिवारों को पुलिस की मौजूदगी में सौंप दिए गए। डीएसपी रमनदीप सिंह भुल्लर ने बताया कि ड्यूटी अफसर एएसआइ सुखवंत सिंह ने दोनों शवों का धारा 174 के तहत पोस्टमार्टम करवाना चाहा, परंतु स्वजनों ने कानूनी कार्रवाई से मना कर दिया। इसके चलते वीरवार को दोनों शव बिना पोस्टमार्टम करवाए परिवार को सौंप दिए गए। पुंिलस पर गोलियां चलाने वालों का नहीं लगा सुराग

वह भारत-पाक अंतरराष्ट्रीय सीमा पर स्थित अटारी में पुलिस टीम पर गोलियां चलाने वाले गैंगस्टरों का पुलिस सुराग नहीं लगा पाई है। गैंगस्टरों की कार का नंबर लेकर भी पुलिस मुलाजिम असमंजस में हैं। एसपी गौरव तूड़ा ने बताया कि रास्ते में दुकानों पर लगे सीसीसीटी कैमरे खंगाले जा रहे हैं। कार का नंबर जानने के लिए पुलिस प्रत्येक प्रयास कर रही है। उधर, घरिडा थाना के प्रभारी मनिदर सिंह ने बताया कि वीरवार को फिलहाल अज्ञात आरोपितों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021