जागरण संवाददाता, करनाल :

शहर में अमरूत के तहत किए जा रहे कामों में अनावश्यक देरी और गंभीरता ना दिखाने के लिए नगर निगम आयुक्त विक्रम ने टाटा कंपनी के ऑपरेशन हैड प्रशांत प्रधान को सख्त निर्देश दिए कि अब और देरी बर्दाश्त नहीं की जाएगी। जैसे भी हो अतिरिक्त एजेंसी की मदद लेकर काम को पूरा कर दिखाएं। उन्होंने तल्ख संवाद के बीच कंपनी प्रतिनिधि को कहा कि स्ट्रोम वाटर व सीवरेज के लिए डाली गई पाइप लाइनों के दौरान सड़कों को जो क्षति हुई थी, उनकी बहाली का काम भी अभी तक नहीं किया गया। अब इसे पूरा करें, अन्यथा पेनेल्टी लगेगी। आयुक्त ने कंपनी प्रतिनिधि को आदेश दिए कि 10 मुख्य सड़कों को प्राथमिकता पर लेकर अगले तीन दिनों में इन्हे शुरू करवाएं, इससे लोगों की परेशानी दूर होगी। अमरूत के काम पूरे करवाने के लिए नगर निगम आयुक्त, टाटा कंपनी के प्रतिनिधि के साथ तीन बार मीटिग कर चुके हैं। प्रतिनिधि द्वारा हर बार काम में तेजी लाने की प्रतिबद्धाता को पूरा ना करने पर उन्होंने नाराजगी जताई। हालांकि उन्होंने कहा कि काम में कुछ सुधार हुआ है, लेकिन आशातीत प्रगति नहीं हो पाई है। आयुक्त ने कहा कि वार्ड-तीन, चार और पांच में इंस्पेक्शन चैंबर डाले जाने के काम को पूरा करने के बाद वहां गलियों को दुरुस्त करने के लिए जीएसबी यानि गटका डलवाएं, ताकि उस पर आगे का काम शुरू हो। उन्होंने यह भी आदेश दिए कि उनके स्कोप ऑफ वर्क में जितनी भी गलियां हैं, उन सभी को पूरा करें। उन्होंने कहा कि सड़कें और गलियों को दुरुस्त करने के लिए नागरिकों की ओर से आए दिन शिकायतें आ रही हैं। लोग अपनी परेशानी बताते हैं। इसे प्राथमिकता पर दूर करना है। मीटिग में शहर के फूसगढ़ एरिया में निर्माणाधीन 20 एमएलडी क्षमता व शिव कालोनी में आठ एमएलडी क्षमता के एसटीपी में सिविल वर्क को पूरा करने के लिए निगमायुक्त ने ऑपरेशन हैड से कहा कि पहले भी इस काम के लिए लेबर बढ़ाने के आदेश दिए गए थे, अब फिर उसे दोहराया जा रहा है।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप