अमेठी : नगर पालिका परिषद जायस की सीमा विस्तार के बाद जहां कोतवाली और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र जायस भी अब नगर पालिका क्षेत्र में आ गया हैं। वहीं, इसकी जनसंख्या भी लाखों में हो गई है। इसलिए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद (सीएचसी) जायस अब इतनी बड़ी जनसंख्या के स्वास्थ्य सेवाओं के लिए नाकाफी है। इसलिए जायस में सीएचसी की मांग उठना स्वाभाविक है। इसी क्रम में नगर के तमाम बाशिदों ने जिलाधिकारी अरुण कुमार को ज्ञापन सौंप कर जायस में सीएचसी बनाने की मांग की है।

सुशील साहू, अमित कौशल, काशीनाथ योगी, सिद्धांत जैन, मोहम्मद शादाब, अमन मौर्य, पिन्कू, सुहैल, जावेद आलम, इम्तियाज अहमद व मोहम्मद मुमताज आदि का कहना है जायस नगर में मौजूदा हालात यह हैं कि यहां लाखों की जनसंख्या के बावजूद अबतक सिर्फ प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ही है। जहां, स्वास्थ्य सेवाओं के लिए मात्र एक डॉक्टर की तैनाती है। रात्रि में जनता को स्वास्थ्य सेवाओं के लिए करीब 15 किमी दूर सीएचसी फुरसतगंज जाना पड़ता है। यहां महिला अस्पताल में तो पिछले पांच सालों से कोई महिला चिकित्सक प्रभारी की तैनाती नहीं हुई है। ऐसे में समुचित चिकित्सा सुविधा न होने के कारण गंभीर रोगियों की इलाज के अभाव में जान चली जाती है। गर्भवती महिलाओं के लिए साधारण प्रसव की भी समुचित व्यवस्था नहीं है। ऐसे में गर्भवती महिलाओं को प्रसव के लिए 33 किलोमीटर दूर रायबरेली जाना पड़ता है।

इसलिए यहां की जनता के हित में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का निर्माण अति आवश्यक है। जिलाधिकारी को दिए गए ज्ञापन में कहा गया है कि प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के पीछे सीएचसी निर्माण के लिए पर्याप्त भूमि भी मौजूद है। जायस के लोगों ने जिलाधिकारी जायस में सीएचसी का निर्माण अविलंब कराने की मांग की है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021