संस, हाथरस : सर्दी का मौसम बढ़ते ही बुखार का प्रकोप बढ़ गया है। रविवार को होली वाली गली में रहने वाले युवक की छह वर्षीय बच्ची की बुखार के चलते जिला अस्पताल में मौत हो गई। वहीं जिला अस्पताल से एक वर्षीय बच्चे को तेज बुखार होने पर गंभीर हालत में आगरा के मेडिकल कॉलेज के लिए रेफर कर दिया गया।

शहर की होली वाली गली निवासी राहत की छह साल की बेटी अलइदा को कई दिन से बुखार आ रहा था। उसका इलाज जेएन मेडिकल कॉलेज अलीगढ़ में चल रहा था। पंद्रह दिन से बच्ची बुखार से पीड़ित थी। 11 नवंबर को स्वजन बच्ची को मेडिकल कॉलेज से लेकर घर आ गए। शनिवार देर रात बच्ची की हालत बिगड़ गई। रविवार सुबह बच्ची को जिला अस्पताल लेकर पहुंचे। यहां उसे भर्ती कर लिया गया। इलाज शुरू कर दिया गया था, लेकिन इसी बीच बच्ची की मौत हो गई। परिजन शव लेकर घर चले गए।

वहीं जलेसर रोड निवासी विपिन के एक वर्षीय बच्चे चिराग को कई दिन से बुखार आ रहा था। स्वजन एक निजी हॉस्पिटल में बच्चे का उपचार करा रहे थे। रविवार की सुबह बच्चे की हालत बिगड़ने पर स्वजन उसे लेकर जिला अस्पताल पहुंचे, जहां उसे भर्ती कराया गया था, लेकिन हालत गंभीर होने पर बच्चे को चिकित्सकों ने आगरा मेडिकल कालेज के लिए रेफर कर दिया।

खासपुर में लगाया शिविर, स्लाइड बनी

फोटो-20

संसू, पुरदिलनगर : नगर पंचायत पुरदिलनगर के ग्राम खासपुर में बुखार से पीड़ित लोगों के उपचार के लिए हसायन सीएचसी प्रभारी डॉ. सोनू निमेष के निर्देशन में शिविर लगाकर दवा का वितरण किया गया तथा स्लाइडें बनाकर जांच के लिए भेजा।

ग्राम खासपुर में बुखार के प्रकोप की खबर से स्वास्थ्य विभाग में खलबली मच गई। रविवार को छुट्टी का दिन होने के बावजूद चिकित्सकों की टीम ने खासपुर में शिविर लगाया। तीन दर्जन लोगों के स्वास्थ्य की जांच करते हुए दवा का वितरण किया। एमओआइसी हसायन सोनू निमेष ने बताया कि खासपुर में सर्दी, जुकाम के मरीज मिले हैं जिन्हें दवा का वितरण किया गया है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस