राज्य ब्यूरो, कोलकाता। मेनहोल की सफाई करने के लिए उतरे सात श्रमिकों में से चार की दम घुटने से मौत हो गई। तीन अन्य की हालत गंभीर है। सभी श्रमिक मालदा जिले के रहने वाले हैं। मृतकों के नाम जहांगीर आलम, लियाकत अली, सबीर हुसैन और मोहम्मद आलमगीर है। दक्षिण कोलकाता के कूंदघाट इलाके के पूर्व पुटियारी स्थित एक क्लब के पास ड्रेनेज सिस्टम की मरम्मत का काम चल रहा था। मालदा जिला के यह सभी श्रमिक मेनहोल की सफाई के लिए नीचे उतरे और बीमार पड़ गए। अग्निशमन विभाग और आपदा प्रबंधन टीम की मदद से सभी को अचेत अवस्था में बाहर निकालकर निकट के बाघाजतीन अस्पताल ले जाया गया, जहां से दो को एसएसकेएम अस्पताल भेजा गया जहां चिकित्सकों ने उनमें से चार श्रमिकों को मृत घोषित कर दिया। तीन का उपचार बाघाजतीन अस्पातल में ही चल रहा है।

प्राथमिक जांच में पता चला कि पूर्व पुटियारी इलाके में एक क्लब के पास ड्रेनेज सिस्टम में पाइप जोड़ने और मरम्मत का काम चल रहा था। इसके लिए गुरुवार दोपहर 12:30 बजे सात श्रमिक मेनहोल की सफाई करने उतरे थे। करीब एक घंटे तक अंदर से कोई आवाज नहीं आने के बाद बाहर खड़े लेबर ठेकेदार ने आवाज दी, लेकिन अंदर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई। इसके बाद रिजेंट पार्क थाना की पुलिस को इसकी सूचना दी गई। सूचना मिलते ही डिजास्टर मैनेजमेंट ग्रुप (डीएमजी) एवं अग्निशमन विभाग की मदद से काफी कोशिश के बाद अचेत हालत में सातों को बाहर निकाला गया। जिनमें से पांच को श्रमिकों को बाघाजतीन स्टेट जनरल अस्पताल व दो को एसएसकेएम अस्पताल में ले जाया गया। बाघाजतीन में दो एवं एसएसकेएम अस्पताल में दो श्रमिकों को चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। इलाके के उपायुक्त रशीद मुनीर खान ने बताया कि रिजेंट पार्क थाना की पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। मेनहोल में उतरने के पहले श्रमिकों को सुरक्षा उपकरण दिए गए थे या नहीं, इसकी जांच की जा रही है। मैनहोल में सफाई के दौरान कैसे वे अचेत हो गए, विशेषज्ञों से इसकी भी जांच कराई जा रही है।

Edited By: Sachin Kumar Mishra