इटावा,जेएनएन। जनपद के एसएसपी आकाश तोमर गुरुवार रात शादी के बंधन में बंध गए हैं। उनकी शादी भिवानी हरियाणा निवासी डॉ. बबीता के साथ नोएडा में हुई है। काेविड गाइडलाइन का पालन करते हुए शादी के दौरान सीमित लोग वर-वधू को आशीर्वाद देने के लिए पहुंचे। शादी में परिवार के सदस्यों के अलावा चुनिंदा लोग ही मौजूद थे। वर्ष 2013 बैच के आईपीएस आकाश तोमर की शादी का रिसेप्शन नोएडा के सेक्टर 51 में 16 जनवरी को रखा गया है। जिसमें प्रदेश के कई अफसरों सहित इष्ट मित्रों को आमंत्रण दिया गया है । आकाश तोमर बुलंदशहर के रहने वाले हैं उनकी पत्नी डॉ बबीता दिल्ली के कलावती अस्पताल में डॉक्टर हैं। आकाश तोमर के पिता अभी हाल ही में प्रधानाचार्य के पद से रिटायर हुए हैं। 

इस-इस समय चर्चा में आए थे इटावा एसएसपी 

ऐसे कई मौके थे जब इटावा एसएसपी चर्चा में आए, लेकिन उनके द्वारा की गईं कुछ कार्रवाई और कुछ काम ऐसे थे जिनकी वजह से जिले में उनकी पहचान सुपरकॉप के रूप में होने लगी। ये हैं वे बड़े और खास कुछ मामले जिन्हें लेकर एसएसपी आकाश तोमर चर्चा में आए थे -

  • चार जनवरी को 41 चोरी के वाहन फर्जी नंबर से चलने के बाद उनकी रिकवरी  
  • 31 दिसंबर को दो करोड़ के टेलीकॉम डिवाइस लूट कांड का खुलासा 
  • दिसंबर में सिविल सर्विसेज की तैयारी कर रहे स्टूडेंट्स सेअपने नोट्स टि्वटर पर शेयर किए
  • दिसंबर में हिस्ट्रीशीटर पासु की 6 करोड़ की संपत्ति जब्त की

यह भी पढ़ें: Civil Services की तैयारी कर रहे स्टूडेंट्स की मदद को इटावा के एसएसपी ने बढ़ाया हाथ, शेयर किया खुद के बनाए नोट्स का लिंक

ये है इटावा एसएसपी का प्रोफाइल 

आकाश तोमर की गिनती प्रदेश के ईमानदार अफसरों में की जाती है। वह बाराबंकी से स्थानांतरित होकर फरवरी 2019 में इटावा आए थे। आने के बाद उन्होंने पुलिस महकमे में पेंडिंग पड़ी करीब 1000 फाइलों का दो माह में ही निस्तारण कर दिया। पुलिस वेलफेयर को लेकर भी उन्होंने  तेजी से काम किया है। पुलिस मॉडर्न स्कूल, जिम, पुलिस अस्पताल व पुलिस लाइन के सुंदरीकरण का काम विगत तीन माह में उन्होंने तेजी से कराया है। बता दें कि विवाह के कारण वे जनपद से 24 जनवरी तक अवकाश पर हैं। 

ये है आकाश तोमर की क्वालिफिकेशन 

आकाश तोमर बताते हैं कि उनका बैक ग्राउंड कंप्यूटर इंजीनियर का है। उन्होंने वर्ष 2011 में ट्रिपल आइटी इलाहाबाद वर्तमान में प्रयागराज से कंप्यूटर इंजीनियर में बीटेक किया था उस समय सिविल सर्विसेज करने के दौरान सारे नोट्स उन्होंने लैपटॉप पर ही बनाए थे। अपने नोट्स शेयर करते समय उन्होंने कहा था कि बेशक यह नोट्स आठ साल पुराने हैं लेकिन नोट्स कैसे तैयार होते हैं यह देखकर छात्रों के समय की काफी बचत होगी।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021