बागपत, जेएनएन। आखिर क्यों न हों हादसे। दिल्ली-यमुनोत्री हाईवे के फुटपाथ को तबेला ही नहीं, बल्कि आराम घर बना दिया है। लोग चारपाई बिछाकर चैन की नींद सोते हैं। वाहनों का पार्किंग स्थल, बच्चों का क्रीड़ा स्थल बना दिया। रोड पर बेसहारा गोवंश भी घूम रहे हैं। यह नजारा अफसरों की आंखों के सामने है। हादसे होने से न लोग चेत रहे हैं और न ही आईना दिखाने से अफसर जाग रहे हैं। अफसरों ने प्रोजेक्टर पर देखी

यातायात व्यवस्था

इंस्टीट्यूट ऑफ रोड एजुकेशन फरीदाबाद के पदाधिकारी मनोज बिष्ट, पंकज मेहरा, मोहित पाठक, सुनील कोमल और श्याम सुंदर ने शनिवार को जिले की सड़कों पर यातायात व्यवस्था देखी और कैमरे में कैद की। जिसको पुलिस लाइन में आयोजित रोड सेफ्टी प्रशिक्षण कार्यशाला में प्रोजेक्टर पर पेश की। बागपत के वाहन चालकों को यातायात के नियमों की जानकारी नहीं है। अधिकांश चालक बेतरतीब ढंग से वाहन चलाते हें। गलत दिशा में वाहनों की स्टेयरिग को घूमा देते हैं। हाईवे किनारे की पशुओं को बांधते है और लोग चारपाई बिछाकर आराम करते हैं। कई वाहनों में फिटनेस की कमी है। कार्यशाला के बाद भी किसी ने सबक नहीं लिया। रविवार को भी हाईवे पर वही स्थिति देखने को मिली।

----

ट्रैक्टर चालक की लापरवाही से

गई थी बाइक सवार की जान

दीपावली के पर्व 14 नवंबर को सिसाना गांव में हाईवे किनारे ट्रैक्टर की ट्राली से अगोले उतारे जा रहे थे। इसी दौरान चालक ने ट्रैक्टर चला दिया था। बागपत की ओर से बड़ौत निवासी युवक बाइक से आ रहा था। ट्रैक्टर की चपेट में बाइक आने से युवक की मौत हो गई थी और बाइक धू-धू कर जल गई थी।

---

न कोई रोक, न कोई टोक, मनमर्जी चलाते हैं वाहन

सड़कों पर कुछ लोग वाहनों को मनमर्जी चलाते हैं। इसी कारण यहां पर आए दिन हादसे होते हैं।

---

लोगों को किया जा रहा जागरूक : एएसपी

एएसपी मनीष कुमार मिश्र का कहना है कि लोगों को ट्रैफिक नियमों के प्रति जागरूक किया जा रहा है। नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाती है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस