लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। यूपी में समाजवादी पार्टी के शासनकाल में हुए खनन घोटाले में पूर्व मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति की मुश्किलें लगातार बढ़ती ही जा रही हैं। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) अब पूर्व मंत्री गायत्री के विरुद्ध आय से अधिक संपत्ति के मामले में भी केस दर्ज करने की तैयारी में है। फिलहाल ईडी खनन घोटाले में सीबीआइ की एफआइआर के आधार पर मनी लांड्रिंग का केस दर्ज कर पूर्व मंत्री गायत्री व अन्य के विरुद्ध जांच कर रही है। इसी कड़ी में ईडी ने 30 दिसंबर 2020 को पूर्व मंत्री के ठिकानों पर छापेमारी भी की थी।

ईडी की छापेमारी के दौरान पूर्व मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति की 100 से अधिक नामी-बेनामी संपत्तियों के दस्तावेज मिले थे। सूत्रों का कहना है कि संपत्ति से जुड़े दस्तावेजों की छानबीन के आधार पर अब ईडी गायत्री के विरुद्ध आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने का केस दर्ज करने की तैयारी में है।

पूर्व मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति के विरुद्ध करीब दो माह पूर्व विजिलेंस ने भी आय से अधिक का केस दर्ज किया था। विजिलेंस की खुली जांच में गायत्री की आय से छह गुना अधिक संपत्ति सामने आई थी। जांच में गायत्री की लखनऊ, अमेठी, सुलतानपुर व प्रतापगढ़ में 21 संपत्तियां सामने आई थीं।

दूसरी ओर ईडी की छापेमारी में पूर्व मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति के ठिकानों से जिन 100 से अधिक संपत्तियों के दस्तावेज मिले थे, उनमें 56 संपत्तियां गायत्री ने अपने परिवारीजन व करीबियों के नाम करीब 36 करोड़ रुपये में खरीदी थीं। साथ ही 23 बेनामी संपत्तियों के दस्तावेज भी मिले थे। ईडी गायत्री की नामी व बेनामी संपत्तियों की सिलसिलेवार छानबीन कर रही है और उनकी वास्तविक कीमत का मूल्यांकन भी कराया जा रहा है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021