जेएनएन,हिसार। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने निर्देश दिए हैं कि 17 अक्तूबर को प्रदेश के महाविद्यालयों व विश्वविद्यालयों में होने वाले छात्र संघ चुनाव के दौरान पूरी सावधानी बरती जाए और सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए जाएं। मुख्यमंत्री आज वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से सभी जिलों के उपायुक्तों, पुलिस अधीक्षकों व सभी विश्वविद्यालयों के कुलपतियों के साथ आयोजित वीडियो कॉन्फ्रेंस को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने विश्वविद्यालयों व महाविद्यालयों द्वारा चुनाव के लिए की गई तैयारियों की समीक्षा की और अधिकारियों को जरूरी दिशा-निर्देश भी दिए। इस दौरान शिक्षा मंत्री प्रो. रामबिलास शर्मा भी मौजूद थे।

 मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि प्रदेश में 22 साल बाद छात्र संघ चुनाव करवाए जा रहे हैं। विश्वविद्यालयों के कुलपतियों के साथ हुए विचार-विमर्श, गुजवि कुलपति की अध्यक्षता में गठित कमेटी तथा लिंगदोह कमेटी की रिपोर्ट की सिफारिशों के आधार पर इस वर्ष छात्र संघ चुनाव अप्रत्यक्ष तरीके से करवाए जाएंगे। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि पूर्व में हुए पंचायती राज चुनावों की तरह छात्र संघ चुनाव भी शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न करवाए जाएंगे।

पहले सीआर (क्लास रिप्रजेंटेटिव) का चुनाव

उन्होंने बताया कि 17 अक्तूबर को छात्र संघ चुनाव के प्रथम चरण में पहले सीआर (क्लास रिप्रजेंटेटिव) का चुनाव करवाया जाएगा। निर्वाचित सीआर उसी दिन प्रधान, उपप्रधान, सचिव, संयुक्त सचिव तथा 5 कार्यकारिणी सदस्यों का चुनाव करते हुए कार्यकारिणी का गठन करेंगे। उन्होंने प्रदेश के सभी कुलपतियों व उपायुक्तों से उनके द्वारा चुनाव हेतु की जा रही तैयारियों व प्रबंधों की जानकारी लेते हुए उन्हें जरूरी दिशा-निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के 11 विश्वविद्यालयों के तहत आने वाले 293 महाविद्यालयों में छात्र संघ चुनाव करवाए जाएंगे। इस चुनाव में 4 लाख 49 हजार 856 विद्यार्थी भागीदारी करेंगे। सीआर पद का चुनाव लडऩे के इच्छुक विद्यार्थी अपने कॉलेज-महाविद्यालय में ही नामांकन करेंगे। उन्होंने बताया कि 3 वर्ष से अधिक समय से चल रहे सभी महाविद्यालयों-विश्वविद्यालयों में छात्र संघ चुनाव करवाए जाएंगे। बीएड कॉलेजों में इस बार चुनाव नहीं करवाए जाएंगे।

 

लगवाए जाएंगे सीसीटीवी कैमरे

शिक्षा मंत्री प्रो. रामबिलास शर्मा ने बताया कि छात्र संघ चुनावों में शांति व्यवस्था बनाए रखना जिला प्रशासन व पुलिस का पहला कार्य है। शिक्षण संस्थानों में असामाजिक तत्वों के प्रवेश पर रोक सुनिश्चित की जाए। इसके लिए यथासंभव शिक्षण संस्थानों के मुख्यद्वारों पर सीसीटीवी कैमरे लगवाए जाएं और पूरी चुनाव प्रक्रिया की वीडियोग्राफी भी करवाएं। उन्होंने बताया कि सभी कुलपतियों को उनके अधीन आने वाले उन महाविद्यालयों की सूची भेज दी गई है जिनमें चुनाव करवाए जाने हैं। कुलपतियों की सहायता के लिए राज्य स्तरीय कंट्रोल रूम स्थापित किया गया है जहां फोन करके सहायता की मांग की जा सकती है।

 

रद की जाएंगी पुलिस कर्मियों की छु‍टिट्यां

कानून व्यवस्था के डीजीपी अकील मोहम्मद ने कहा कि छात्र संघ चुनावों के मद्देनजर सभी पुलिस कर्मियों की छुट्टियां रोक दी जाएं और उन्हें ड्यूटी की रिहर्सल करवाई जाए। किसी भी डिफाल्टर पुलिस कर्मी की ड्यूटी चुनाव में न लगाई जाए और ड्यूटी करने वाले पुलिस कर्मी छात्रों से दोस्ताना व्यवहार करें। सभी पुलिस अधीक्षक स्वयं पुलिस कर्मियों को उनकी जिम्मेदारी समझाएं तथा उनसे प्रतिदिन रिपोर्ट लें।

 

18 कॉलेजों में करवाए जाएंगे चुनाव

उपायुक्त अशोक कुमार मीणा ने बताया कि हिसार में 18 महाविद्यालयों में छात्र संघ चुनाव करवाए जाने हैं। इसके लिए सभी शैक्षणिक संस्थानों के प्रतिनिधियों को जरूरी दिशा-निर्देश दे दिए गए हैं। गुजवि कुलपति प्रो. टंकेश्वर द्वारा गाइडलाइंस जारी कर दी गई हैं और कल शाम तक नोटिफिकेशन भी जारी कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि जिला में सभी स्थानों पर शांतिपूर्ण ढंग से चुनाव करवाए जाएंगे।

वीडियो कॉन्फ्रेंस में उपायुक्त अशोक कुमार मीणा, हिसार पुलिस अधीक्षक शिवचरण, हांसी पुलिस अधीक्षक वीरेंद्र विज, एसडीएम परमजीत सिंह चहल, लुवास के कुलपति प्रो. गुरदयाल सिंह, गुजवि के कुलपति प्रो. टंकेश्वर सिंह, डीएसडब्ल्यू विनोद कुमार सहित अन्य विभागों व पुलिस के अधिकारी भी मौजूद थे।

Posted By: manoj kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस