संवाद सूत्र, देवघर : मकर संक्रांति के अवसर पर भक्तों ने बाबा बैद्यनाथ की पूजा-अर्चना की। दो किमी की लंबी कतार सुबह दस बजे तक लगी रही। इसके बाद यह क्रम टूटा। सुबह सरदार पंडा गुलाबनंद ओझा ने बाबा को तिल गुड़ अर्पित किया। इसके बाद भक्तों ने भी बाबा को यह अर्पण किया। यह सिलसिला कपाट बंद होने तक चलता रहा। कांचाजल पूजा में पुजारी सरदार पंडा गुलाब नंद ओझा के द्वारा विधिवत षोडशोपचार पूजा की गई। मकर संक्रांति को लेकर जिला प्रशासन और मंदिर प्रबंधन की ओर से अतिरिक्त पुलिस बल की तैनाती की गई थी। हालांकि उस अनुरूप श्रद्धालुओं की भीड़ नहीं रही। उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री ने पूजा-अर्चना कर मंगल कामना की। मंदिर की व्यवस्थाओं को देखा। कुछ देर प्रशासनिक भवन में बैठकर पूजा व्यवस्था की मानीटरिग सीसी टीवी के माध्यम से की। कुछ देर बाद एसपी अश्वनी कुमार सिन्हा भी बाबा मंदिर में पूजा-अर्चना करने के लिए पहुंचे। वीआइपी गेट पर वाहन देखकर मंदिर थाना प्रभारी को निर्देश देते हुए कहा कि इस स्थान पर किसी भी वाहन को नहीं लगने दें। पूरी तरह से खाली रखें ताकि आने-जाने वाले लोगों को किसी प्रकार की कोई दिक्कत न हो।

एक महीना तक बाबा को खिचड़ी का भोग : खरमास समाप्त हो गया। सभी शुभ कार्य अब शुरू किए जाएंगे। परंपरा के अनुसार आज से 1 महीने तक बाबा को खिचड़ी भोग अर्पित किया जाएगा। यह भोग श्रृंगारी परिवार के द्वारा बनाया जाता है। बाबा का भोग श्री यंत्र मंदिर में अर्पित किया गया। यहां पर हर मौसम में बाबा को अलग-अलग प्रकार के भोग लगाया जाता है। माघ माह में खिचड़ी का भोग, फागुन में मालपुआ का भोग अर्पित किया जाता है। यह परंपरा सदियों से चली आ रही है।

ट्रैफिक को लेकर रही चौकसी :

मकर संक्रांति को लेकर जिला प्रशासन की ओर से मंदिर के आसपास ट्रैफिक व्यवस्था चुस्त-दुरुस्त करने के लिए मंदिर से सटे सभी चौक चौराहों पर पुलिस की तैनाती की गई थी। ताकि छोटे बड़े वाहन मंदिर के आसपास प्रवेश न कर सके। हर साल बाहर से आए हुए श्रद्धालुओं के द्वारा जहां-तहां गाड़ी लगा देने से जाम की स्थिति उत्पन्न हो जाती थी। जिसको देखते हुए इस बार लक्ष्मीपुर चौक, मंदिर मोड़, पंडित शिवराम झा चौक, जलसा रोड, भोला पंडा चार भाई पथ व अन्य स्थानों पर ट्रैफिक पुलिस की तैनाती की गई थी। जिसका मॉनीटरिग हेड क्वार्टर डीएसपी मंगल सिंह जमुदा लगातार बाइक से घूमकर कर रहे थे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021