समस्तीपुर। शहर के मोहनपुर रोड स्थित मवेशी अस्पताल के समीप प्राइवेट नìसग होम में रविवार की रात्रि ऑपरेशन के दौरान जच्चा-बच्चा की मौत हो गई। इससे आक्रोशित होकर परिजनों ने लापरवाही का आरोप लगाते हुए हंगामा किया। इसके बाद नìसग होम के संचालक, चिकित्सक सहित सभी कर्मी फरार हो गए। मृतका की पहचान ताजपुर के राजीव महतो की पत्नी मुन्नी देवी के रूप में हुई। उसे रविवार को प्रसव के लिए भर्ती कराया गया था। परिजन ने आरोप लगाया कि ऑपरेशन के एवज में डेढ़ लाख रूपये शाति इमरजेंसी अस्पताल के चिकित्सक डॉ. एसएम अहमद, डॉ. एस अहमद, डॉ. गजाला की टीम ने लिया था। ये लोग ग्रामीण चिकित्सक बताए गए है। बगैर विशेषज्ञ एवं एनेस्थेसिया के ही ऑपरेशन करने का आरोप भी लगाया गया है। मरीज की हालत धीरे-धीरे बिगड़ने लगी। कुछ ही देर बाद जच्चा-बच्चा की मौत हो गई। मृतका के परिजनों द्वारा पूछने पर बेहोश बताकर उसे रेफर करने की बात कही गई। इससे परिजन आक्रोशित हो उठे। साथ गाव में फोन कर पूरे मामले की जानकारी दी गई। आनन-फानन में बड़ी संख्या में ग्रामीण नìसग होम पर जुट गए। इसके बाद हंगामा करना शुरू कर दिया। सूचना पर नगर थानाध्यक्ष भी दल बल के साथ मौके पर पहुंचे। भाकपा माले नेता सुरेंद्र प्रसाद सिंह ने घटना की जाच कर दोषियों पर एफआईआर दर्ज करने, मृतका के परिजन को मुआवजा देने की माग के साथ ही बगैर सुविधा, बिना डिग्रीधारी चिकित्सक द्वारा चलाए जा रहे क्लिनिक पर रोक लगाने की माग की। संचालक अस्पताल छोड़कर फरार हो गया।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस