मुंबई, पीटीआइ। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर लगातार सातवीं जीत दर्ज करने वाले भारतीय फुटबॉल खिलाड़ियों का मानना है कि वे धैर्य कायम रखते हुए किर्गिस्तान के खिलाफ होने वाले 2019 एशिया कप क्वालीफायर के लिए लय बरकरार रखेंगे। एएफसी एशिया कप के अहम क्वालीफाइंग मैच में भारत 13 जून को बेंगलुरु में किर्गिस्तान की मेजबानी करेगा।

भारत ने मंगलवार को यहां अंतरराष्ट्रीय मैत्री मैच में नेपाल को 2-0 से हराया। बेहतरीन फॉर्म में चल रहे संदेश झींगन को जब पिछले कुछ मैचों में उनके प्रदर्शन के बारे में याद दिलाया गया तो उन्होंने कहा, 'टीम की मदद करने की मुझे खुशी है। हमें इस जीत की जरूरत थी, क्योंकि यह किर्गिस्तान के खिलाफ मैच से पहले हमें अच्छी लय देगी। हमें इसका फायदा उठाना होगा।'

नेपाल के खिलाफ मैच में दूसरा गोल दागने वाले जेजे लालपेखलुआ ने कहा कि टीम को धैर्य बरकरार रखना होगा। उन्होंने कहा, 'काफी उमस थी और मैच काफी कड़ा था। हमें कड़ी टक्कर दी और एकजुट रहे। हम पहले हाफ में गोल नहीं कर पाए, लेकिन हमने धैर्य बरकरार रखा। हमने दूसरे हाफ में कोशिश जारी रखी और इसका फायदा मिला।' 

लगातार सात अंतरराष्ट्रीय मैचों में जीत छोटी उपलब्धि नहीं है, लेकिन स्ट्राइकर रॉबिन सिंह इसे अधिक तवज्जो नहीं देना चाहते। उन्होंने कहा, 'सिर्फ एक ही तरीका है कि यहां से हम आगे बढ़ें। नेपाल के खिलाफ मैच विजयी कदम है और अब समय है कि हम किर्गिस्तान के खिलाफ मुकाबले पर ध्यान लगाएं।'

भारतीय फुटबॉल हितधारकों की हुई बैठक

एशियन फुटबॉल परिसंघ (एएफसी) मुख्यालय में भारतीय फुटबॉल के हितधारकों के बीच हुई बैठक में खेल के विकास के लिए मिलकर काम करने को लेकर आम सहमति से फैसला लिया गया। बैठक की अध्यक्षता एएफसी के महासचिव दाटो विंडसर जॉन ने की। बैठक में अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ (एआइएफएफ), भारतीय खेल मंत्रलय, आइ-लीग और इंडियन सुपर लीग क्लब, फुटबॉल खिलाड़ियों का संघ और फीफा के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया। आइएसएल की कई फ्रेंचाइजियों ने इसे अहम न बताते हुए बैठक में हिस्सा नहीं लिया। बैठक में इस बात पर अंतिम फैसला नहीं निकल पाया कि एएफसी कप में आइएसएल टीम को जगह मिलेगी या नहीं। (आइएएनएस)

 क्रिकेट की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल जगत की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस