जागरण संवाददाता, गुरुग्राम: गुरुग्राम-सोहना-अलवर हाईवे बनने से रियल एस्टेट सेक्टर उत्साहित है। इस क्षेत्र के दिग्गजों का कहना है कि आने वाले समय में सोहना और उसके आसपास के क्षेत्रों में रेजिडेंशियल और कामर्शियल प्रापर्टी की मांग बढ़ेगी। आवागमन आसान होने से अधिक से अधिक इन क्षेत्रों में बसना चाहेंगे। 22 किलोमीटर का सोहना एलिवेटेड एक्सप्रेस-वे यातायात को सुगम बनाने का काम कर रहा है। पहले सोहना से गुरुग्राम तक आने में एक से दो घंटे तक का समय लगता था। अब इसमें सिर्फ 20 से 25 मिनट का समय लग रहा है। गुरुग्राम के विकास में रियल एस्टेट सेक्टर का बहुत बड़ा योगदान है। लोग सोहना क्षेत्र को पसंद करते हैं। सिर्फ यातायात जाम की समस्या से लेकर लोग सोहना में प्रापर्टी नहीं खरीदना चाहते थे। अब उनकी सबसे बड़ी समस्या का समाधान हो गया है। ऐसे में इस क्षेत्र में निवेश करने वालों की संख्या में तेजी से वृद्धि होने वाली है। रियल एस्टेट की ²ष्टि से सोहना रोड सबसे अधिक मांग वाला स्थान है। सेंट्रल पार्क के मैनेजिग डायरेक्टर अमरजीत बख्शी कहते हैं कि सोहना क्षेत्र अब इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे और दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे के पास है। इससे गुरुग्राम के दक्षिण में ढांचागत विकास बढ़ेगा। यह रहने योग्य एक विशेष स्थान के रूप में उभर रहा है।

360 रियल्टर्स के डायरेक्टर संजीव अरोड़ा का कहना है कि सोहना हाईवे बनने से यह क्षेत्र आर्थिक केंद्र के रूप में उभरेगा। लोगों को जाम की समस्या से मुक्ति मिलने के बाद सोहना और उसके आसपास के क्षेत्रों में भरपूर विकास होगा और अधिक से अधिक लोग यहां प्रापर्टी की खरीद के प्रति प्रोत्साहित होंगे। जेएमएस ग्रुप के मैनेजिग डायरेक्टर पुष्पेंद्र सिंह का कहना है कि गुरुग्राम में 22 किलोमीटर की सोहना एलिवेटेड रोड के खुलने से गुरुग्राम और सोहना के बीच यात्रा के समय में कमी आएगी। यात्री अब सुभाष चौक से बादशाहपुर तक एलिवेटेड रोड तक पहुंच सकेंगे। यह अलीपुर में एक इंटरचेंज के माध्यम से दिल्ली-वडोदरा एक्सप्रेस-वे से भी जुड़ेगा। यहां रियल एस्टेट की संभावनाएं काफी मजबूत दिख रही हैं।

Edited By: Jagran