जागरण संवाददाता, चंडीगढ़। Chandigarh Weather: जन्माष्टमी के मौके पर बारिश ने मौसम सुहावना बना  दिया है। चंडीगढ़ समेत ट्राईसिटी में सुबह से ही हल्की बुंदाबांदी हो रही है। बारिश की वजह से तापमान में भी गिरावट हुई है। 

आज कृष्ण जन्माष्टमी की छुटी होने के चलते शहरवासी इस सुहावने मौसम का आनंद उठा रहे हैं। वहीं आज से वीकेंड भी शुरू हो रहा है। ऐसे में लोगों के लिए यह मौसम मजेदार साबित होने वाला है। शहर के पर्यटन स्थल गुलजार रहेंगे। 

मौसम विभाग की माने तो आज शहर का अधिकतम 34.5 डिग्री दर्ज किया गया, जोकि सामान्य तापमान से दो डिग्री सेल्सियस कम है। वहीं न्यूनतम तापमान 27.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जोकि सामान्य तापमान से चार डिग्री सेल्सियस कम है।

मौसम विभाग के निदेशक मनमोहन सिंह ने बताया कि अगले तीन दिनों तक चंडीगढ़ समेत पंजाब और हरियाणा में बादल छाए रहेंगे और हल्की बारिश का पूर्वानुमान है। इस दौरान शहर का अधिकतम तापमान 32 से 35 डिग्री सेल्सियस के बीच रहेगा, वहीं न्यूनतम तापमान 26 से 29 डिग्री सेल्सियस के बीच में रहेगा। उन्होंने कहा कि 20 अगस्त को कई इलाकों में जोरदार बारिश का पूर्वानुमान है।

अगस्त महीने में अभी तक हुई है 118.8 एमएम बारिश

अगस्त महीने में अभी तक सिर्फ चार ही बारिशें हुई है। इनमें सबसे जोरदार बारिश पहली अगस्त को  (69.9 एमएम) को हुई थी। इससे पहले जुलाई में बारिश ने पिछले 10 साल का रिकार्ड तोड़ दिया है। जुलाई में 473.3 एमएम बारिश हुई थी। मानसून सीजन में चंडीगढ़ में अगर  846.5 एमएम बारिश हो तो इसे अच्छा मानसून माना जाता है। बावजूद इसके शहर में अबतक 642 एमएम बारिश हो चुकी है। उन्होंने बताया कि मानसून अभी एक बार फिर से सक्रिय हो रहा है, ऐसे में अगस्त महीने में भी अच्छी बारिश का पूर्वानुमान है। बारिशों की वजह से लोग गर्मी से राहत महसूस करेंगे।

जन्माष्टमी के चलते शहर के मंदिरों में भीड़

जन्माष्टमी की छुट्टी होने के चलते शहर के बाजारों,पर्यटन स्थलों व मंदिरों में रौनक देखी गई। लोग सुहाने मौसम और छुट्टी का लुत्फ उठाने के लिए घरों से बाहर निकल रहे हैं। सेक्टर -17 के प्लाजा, नेक्सस एलांते, सुखना लेक और सेक्टर -19 और सेक्टर-22 के बाजार में खासी भीड़ देखी जा रही है। इसके अलावा कृष्ण मंदिरों में भी खासी भीड़ है। खासकर सेक्टर - 36 स्थित एस्कान मंदिर में तो लोगों का सुबह से तांता लगा हुआ है। लोग बच्चों को राधा -कृष्ण बनाकर मंदिरों में माथा टेकने पहुंच रहे हैं। 

Edited By: Ankesh Thakur