दो माह में तैयार हो जाएगी पिथौरागढ़ जिले की पहली कृत्रिम झील

संवाद सहयोगी, पिथौरागढ़: जिला मुख्यालय के थरकोट में बन रही पहली कृत्रिम झील दो माह में तैयार हो जाएगी। झील का 95 प्रतिशत काम पूरा हो कर लिया गया है। झील पर्यटन गतिविधियों में इजाफा करने के साथ ही पेयजल आपूर्ति में भी सहायक होगी। जिला मुख्यालय से लगभग आठ किमी.दूर थरकोट में कृत्रिम झील निर्माण का कार्य तीन वर्ष पूर्व शुरू किया गया था। नाबार्ड की मदद से बन रही झील के लिए 30 करोड़ की धनराशि स्वीकृत की गई है। करीब 700 मीटर लंबी और 75 मीटर चौड़ी झील 28 मीटर गहरी होगी। जिलाधिकारी आशीष चौहान ने झील निर्माण के कार्य को प्राथमिकता में रखा है। पिछले दिनों जनपद भ्रमण पर आए कुमाऊं कमिश्नर दीपक रावत ने झील निर्माण स्थल का निरीक्षण कर नवंबर तक हर हाल में कार्य पूरे करने के निर्देश दिए थे। कुमाऊं कमिश्नर के निर्देश के बाद सिंचाई विभाग ने युद्धस्तर पर कार्य करते हुए झील के सिविल वर्क का 95 प्रतिशत कार्य पूरा कर लिया है। जिलाधिकारी ने पुन: झील स्थल का निरीक्षण किया। उन्होंने मौके पर मौजूद सिंचाई विभाग के अधिशासी अभियंता को नवंबर तक हर हाल में झील का कार्य पूरा कर लेने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने कहा कि थरकोट झील का निर्माण पूरा हो जाने से जिले में पर्यटन विकास को बल मिलेगा और क्षेत्र में पेयजल की जरूरत पूरी होगी।

Edited By: Jagran