हैक कर लिया सुरक्षा सिस्टम 

आॅस्ट्रेलिया के एक 16 साल के किशोर के मन में बस यही इच्छा थी कि एक दिन वो तकनीक के क्षेत्र में बड़ा नाम कमा चुकी एेप्पल कंपनी में नौकरी करेगा। इसके लिए वो वहां से बुलावे के लिए कुछ भी करने को तैयार था, पर इस कोशिश में उसने तजो किया उसके बाद नौकरी तो नहीं हां जेल की कोठरी का रास्ता जरूर दिखार्इ पड़ रहा है। इस लड़के को कंपनी के सुरक्षा सिस्टम में सेंध लगाने के लिए दोषी पाया गया है। कानूनी कारणों से बच्चे का नाम ना जाहिर करते हुए वहां की फेडरल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन ने मीडिया को बताया कि बच्चे ने एेप्पल की आधिकारिक साइट हैक करने का अपराध किया है।  

जानकारी हैक कर फोल्डर में की सेव 

पीटीआर्इ की रिपोर्ट के अनुसार आॅस्ट्रेलियार्इ अदालत में मामले को प्रस्तुत कर रहे एक वकील के हवाले से पता चला है कि ये किशोर पिछले एक साल से अपने उपनगरीय घर में बैठ कर कंपनी के मेनफ्रेम में कई मौकों पर घुसपैठ कर चुका था। मामला खुलने पर खुद एेप्पल की आेर से इस बारे में शिकायत दर्ज करार्इ गर्इ थी। पता चला है किशोर आॅस्ट्रेलिया में एक प्राइवेट स्कूल का छात्र है और उसने एेप्पल के मेनफ्रेम से उड़ाई गई जानकारी को 'हैकी हैक हैक' नाम के फोल्डर में सुरक्षित भी कर लिया था। 

 दोस्तों को दिखार्इ शान 

खबरों के मुताबिक हांलाकि इस बच्चे ने एेप्पल के सर्वर से जानकारी चोरी करते हुए अपनी पहचान छिपाकर रखी थी, लेकिन कई पासवर्ड्स हैक करने के बाद उनके स्क्रीनशॉट्स और जानकारी वॉट्सऐप पर दोस्तों के साथ साझा किये। अपने काम में कुशल ये किशोर कंपनी की कर्इ अधिकृत कीज को एक्सेस करने में और ग्राहकों के खातों को देखने में सक्षम था। जब तक इसके बारे में जानकारी मिलती उससे पहले तक उसने  सिक्योर फाइल्स के 90जीबी तक डेटा को डाउनलोड कर के रख लिया था। अभी तक ये जानकारी नहीं मिली है कि चोरी किया गया डेटा किस प्रकार का है, पर कंपनी का दावा है  कि इसमें उनका निजी डेटा शामिल नहीं है। मामले की गंभीरता आैर जटिलता को देखते हुए अदालत ने इस पर फैसला एक महीने तक सुरक्षित रख कर अगले महीने 20 सितंबर तक सजा का एलान करने के लिए कहा है। 

Posted By: Molly Seth