अनोखा आइडिया

अभी तक आपने गैरकानूनी तरीके से एक देश से दूसरे देश में प्रवेश करने के कई तरीकों के बारे में सुना होगा, जैसे फर्जी पासर्पोट बनाना, छुप कर सीमा पार करना या समुद्री मार्ग से प्रवेश करना, लेकिन आपने इस बारे में पक्‍का नहीं सुना होगा जिसका जिक्र अब हम करने जा रहे हैं। मामला इराक का है जहां सात लोग एक अनोखे तरीके से पड़ोसी देश तुर्की में प्रवेश करना चाह रहे थे। डेलीमेल में छपी एक खबर की माने तो इन लोगों ने खुद को खाना लपेटने वाले सिल्‍वर एल्‍मूनियम फॉइल में खुद को लपेट कर कंटेनर में बंद कर लिया, क्‍योंकि इन्‍हें लगा कि ऐसा करके ये जांच करने वाली एक्‍सरे मशीन की नजरों से बच कर तुर्की पहुंच सकते हैं। 

डरे हुए लोग जाना चाहते हैं तुर्की 

दरसल इराक में हालात काफी खराब हैं। लोग अमेरिका के हमले और आईएसआईएस के आतंक से डरे हुए हैं और काफी लोग अपने देश को छोड़ कर भागना चाहते हैं। ऐसे लोगों का नजदीकी पसंदीदा स्‍थान तुर्की ही है। पहले भी इस तरह की खबरें आती रहीं हैं कि कई इराक के निवासियों ने चोरी छिपे तुर्की में प्रवेश के प्रयास किए हैं। तुर्की आने की एक वजह ये भी है कि यहां से यूरोपीय देशों में जाना भी काफी आसान हो जाता है। इसी सब की वजह से अब तुर्की ने भी अपनी सुरक्षा व्‍यवस्‍था काफी सख्‍त कर दी है।  

ये थी खास योजना

इसी सख्‍त जांच प्रक्रिया को चकमा देने के लिए इन सात इराकियों ने अजब गजब तरीका अपनाने का फैसला किया। इन्‍होंने खाने को कुछ समय तक गर्म और ताजा बनाये रखने के लिए इस्‍तेमाल होने वाले सिल्‍वर एल्‍मूनियम फॉइल से खुद को पूरी तरह लपेट कर ढक लिया और लॉरी में ले जाये जा रहे श‍िपिंग कंटेनर के अंदर बैठ गए। इन लोगों का विचार था कि इस तरह से वे पोर्ट में लगी एक्‍सरे मशीनों को धोखा देने में कामयाब हो जायेंगे। ये काफी हद तक सफल भी हो गए लेकिन एक सुरक्षाकर्मी की सर्तकता वजह से योजना फेल हो गई। दरसल जिस लॉरी ये लोग छिपे थे उसमें प्‍लास्‍ट‍िक के ऑटो पार्ट्स ले जाए जा रहे थे। ऐसे में जांच करने वाले को कंटेनर का वजन सुरक्षाकर्मी के शक का कारण बन गया। जब तुर्की के इस्तांबुल में पेंडिंक पोर्ट पर कंटेनर की जांच की गई तो उसका वजन कागजात पर लिखे वजन से ज्‍यादा निकल रहा था। इस पर कंटेनर को खुलवाकर जांच की गई और इन इराकियों की पोल खुल गई, फिल्‍हाल लॉरी ड्राइवर सहित इन सभी को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। 

 

Posted By: Molly Seth