Zalzala Koh: कई बार कुदरत की कुछ ऐसी घटनाएं होती हैं, जो हमें हैरान कर देती हैं। एक ऐसी ही घटना हुई है पाकिस्तान के शहर ग्वादर में। वहां पर समुद्र के बीच स्थि​त एक द्वीप रातों-रात अचानक गायब हो गया। उस द्वीप का नाम जलजला कोह था, जिसका अर्थ भूकंप का पहाड़ होता है।

स्थानीय मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, 6 साल पूर्व ग्वादर के समुद्री तट पर जब 7.7 तीव्रता का भूकंप आया था, तब यह द्वीव अस्तीत्व में आया था। यह द्वीप 66 फीट ऊंचा, 295 फीट चौड़ा और 130 फीट लंबा था।

वैज्ञानिकों का कहना है कि पृथ्वी के अंदर टेक्टॉनिक प्लेटों के टकराने के कारण इस द्वीप का निर्माण हुआ था। इसके सतह पर कीचड़ और बड़े-बड़े पत्थर थे।

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने इस द्विप की 2013 से 2019 के बीच की तुलनात्मक अध्ययन वाली तस्वीरें जारी की हैं, जिसमें दिखाया गया है कि यह द्वीप कैसे बना और समय के साथ-साथ कैसे खत्म हो गया।

नासा के अनुसार, कीचड़ वाले ज्वालामुखी के कारण जलजला कोह जैसे कई द्वीप पाकिस्तान के समुद्री तट के पास सामने आ सकते हैं और समय के साथ नष्ट हो सकते हैं।

Posted By: kartikey.tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस