इसी माह हुई थी शादी

ये मामला राउरकेला का है। इसी महीने 4 मार्च को सुंदरगढ़ जिले के बड़गांव ब्लॉक के पमारा गांव के रहने वाले 28 साल के युवक वासुदेव टप्पू की झारसुगुडा के देविनी गांव की रहने वाली 24 साल की युवती से शादी हुई थी। दोनों किसान समुदाय से संबंध रखते  हैं इसलिए उनकी शादी इन्‍हीं के रीति-रिवाज के साथ की गई थी। शादी के दो तीन बाद कुछ लोग वासुदेव की पत्‍नी से मिलने आये और कहा वे आपस में रिश्‍तेदार हैं। कुछ देर बाद पता चला कि उनमे से एक वासुदेव की पत्‍नी का प्रेमी है। 

सिर्फ छह दिन में बदल गया रिश्‍ता

शुरूआत में तो लोगों ने इस पर आपत्‍ति जताई और युवक को मारा पीटा आखिर में वासुदेव की पत्‍नी ने खुद ये स्‍वीकार कर लिया कि वो भी उस से प्‍यार करती है और शादी करना चाहती थी पर नहीं कर पाई। दोनों की शादी ना हो पाने की वजह थी पत्‍नी का परिवार जिसमें सिर्फ बड़े भाई बहन ही थे माता पिता का देहांत हो चुका था। इसके बाद वासुदेव ने तय किया वो दोनों की शादी करायेगा। उसने पत्‍नी के परिवार और उसके प्रेमी के परिवार से स्‍वयं बात की और महज छह दिन बाद ही पत्‍नी की शादी उसके प्रेमी से करा कर धूम धाम से दोनों को विदा किया। वासुदेव का कहना है कि अगर वे ऐसा नहीं करते तो तीन लोगों की जिंदगी बर्बाद हो जाती, जबकि अब सब खुश हैं।  

 

Posted By: Molly Seth