पटना, जागरण संवाददाता। अब हाजीपुर में भी कंपोजिट सिलेंडर (Composite LPG Cylinder) उपभोक्‍ताओं को मिलने लगा है।  इसी माह से आइओसी के डिविजनल एरिया ने टाउन एरिया से इसकी शुरुआत की है। अब तक पटना, गया, आरा, नालंदा और बेगूसराय में ही इसकी उपलब्धता थी। हाजीपुर छठवां शहर है जहां कंपोजिट सिलेंडर की शुरुआत की गई है। कंपोजिट सिलेंडर की शुरुआत सितंबर 2021 में पटना से हुई थी। इस सिलेंडर में कई खूबियां हैं। यह सुरक्षित  और हल्‍का भी है। 

बाहर से ही देख सकते हैं गैस की मात्रा 

आइओसीएल के डिविजनल एलपीजी हेड राहुल दीक्षित ने कहा कि कंपोजिट सिलेंडर का दायरा चरणबद्ध ढंग से बढ़ाया जा रहा है। इस सिलेंडर का कुछ हिस्सा पारदर्शी है। इससे उपभोक्ता गैस की मात्रा बाहर से ही देख सकते हैं। गैस खत्म होने से पहले ही दूसरे सिलेंडर के लिए बुकिंग करा सकते हैं। लाल रंग वाले सिलेंडर में कितना गैस है इसका पता नहीं चल पाता। जब अचानक गैस खत्‍म हो जाता है तो उपभोक्‍ताओं को परेशानी होती है। ले‍किन इस सिलेंडर में ऐसा नहीं होगा। दूसरी खास बात यह कि इसमें जंग नहीं लगता और लाल सिलेंडर से हल्का भी होता है। हाजीपुर के टाउन एरिया में यह उपलब्ध हो गया है। एक माह में हाजीपुर की सभी एजेंसियों के पास उपलब्ध हो जाएगा। 

पटना जिले में उपभोक्ताओं की संख्या कम

पटना जिले में अभी कंपोजिट सिलेंडर के उपभोक्ता करीब 900 हैं जबकि कुल एलपीजी उपभोक्ताओं की संख्या 8.9 लाख है। जिले की कुल 70 एजेंसियों में कंपोजिट सिलेंडर की उपलब्धता रहने के बाद भी कंपोजिट सिलेंडर के उपभोक्ता अभी कम हैं। इसके प्रति लोगों को जागरूक होने की जरूरत है। बिहार एलपीजी वितरक संघ के महासचिव डाक्टर रामनरेश सिन्हा ने कहा कि जागरूकता की कमी है। हालांकि जो उपभोक्ता कंपोजिट सिलेंडर का उपयोग कर रहे हैं वे संतुष्ट हैं। यह सुरक्षित है क्योंकि इसमें विस्फोट नहीं होता।

Edited By: Vyas Chandra

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट