प्रयागराज, जागरण संवाददाता। डायसिस आफ लखनऊ के नवनियुक्त बिशप मनोज चरण ने बिगड़ी व्यवस्था पटरी पर लाने की कवायद तेज कर दी है। पदभार ग्रहण करने के बाद डायसिस के अधिकारियों व पदाधिकारियों के साथ बैठक कर स्कूल, कालेजों व जमीनों के लेन-देन में हुई गड़बड़ी की जानकारी ली। पूर्व बिशप डा. पीटर बलदेव के कार्यकाल में स्कूलों में नियम विरुद्ध हुई नियुक्तियों व जमीन बिक्री पर रिपोर्ट तैयार की जाएगी। रिपोर्ट में दोषियों को चिह्नित करके कार्रवाई की जाएगी।

पूर्व बिशप डा. पीटर बलदेव पर वित्‍तीय व आपराधिक मामले दर्ज थे : डायसिस आफ लखनऊ बिशप रहे डा. पीटर बलदेव पर वित्तीय व आपराधिक मामले दर्ज थे। इसे देखते हुए चर्च आफ नार्थ इंडिया (सीएनआइ) ने उन्हें चार जून को लंबी छुट्टी पर भेज दिया था। इनका काम देखने के लिए डायसिस आफ भोपाल के बिशप मनोज चरण को लखनऊ डायसिस में माडरेटर एपीस कोपल कमिशरी नियुक्त किया गया था। बीते दिनों लखनऊ पुलिस ने डा. पीटर को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया।

प्रयागराज पत्‍थर गिरजाघर में बिशप के पदभार ग्रहण करने पर विशेष प्रार्थना सभा : मनोज चरण डायसिस आफ लखनऊ के बिशप नियुक्त किए गए। उन्होंने शुक्रवार को विधिवत बिशप का पदभार ग्रहण कर लिया। इसके लिए पत्थर गिरजाघर में विशेष प्रार्थना आयोजित की गई। बाइबिल का पाठ करके उन्हें बिशप के सिंहासन पर आसीन किया गया।

बिशप मनोज चरण बाेले- डायसिस आफ लखनऊ की गरिमा लौटाई जाएगी : पदभार ग्रहण करने के बाद बिशप मनोज चरण ने पदरियों, प्रधानाचार्यों व कर्मचारियों को संबोधित करते हुए कहा कि सीएनआइ के नियम व बाइबिल के निर्देशों के अनुसार समस्त काम किए जाएंगे। मेहनत व ईमानदारी से काम करके डायसिस आफ लखनऊ को उसकी पुरानी गरिमा लौटाई जाएगी। समाज के गरीब, मजलूमों के हित में काम करते हुए उन्हें शिक्षा व चिकित्सा की सुविधा मुहैया कराई जाएगी। इस दौरान डायसिस आफ लखनऊ के उपाध्यक्ष फादर प्रवीण मैसी, डीआर लाल, डा. अरुण मोजिस, डा. विनीता यीशुबीएस, फादर मनीष जैदी, डेविड ल्यूक, विशाल सिंह, शीबा सुहान आदि मौजूद रहे।

Edited By: Brijesh Srivastava

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट